आईपीएल तले दबी बड़ी फिल्मों की आवक - आईपीएल तले दबी बड़ी फिल्मों की आवक DA Image
12 दिसंबर, 2019|8:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल तले दबी बड़ी फिल्मों की आवक

आईपीएल तले दबी बड़ी फिल्मों की आवक

फिलहाल फिल्म इंडस्ट्री के सामने आईपीएल सीना ताने खड़ा है, जिसे लेकर इंडस्ट्री से मिले-जुले रिस्पॉन्स मिल रहे हैं। आईपीएल के दौरान कई छोटी-बड़ी फिल्में रिलीज होने जा रही हैं, जबकि पहले ये माना जा रहा था कि आईपीएल के दौरान कम से कम बड़ी फिल्में तो रिलीज नहीं होंगी। उधर वार्नर ब्रदर्स ने भी साफ कर दिया है कि वह अपनी चारों फिल्में इसी दौरान रिलीज करेगा।

मौजूदा दौर में कुछ पता नहीं कि कौन-सी फिल्म की रिलीज किस वजह से आगे पीछे खिसक जाए। रिलीज डेट्स आगे-पीछे खिसकाने के बावजूद कई मौके ऐसे भी आते हैं, जब दो बड़ी फिल्में आमने-सामने होती हैं। खैर, इस बात तो फिल्म इंडस्ट्री के सामने आईपीएल खड़ा है, जिसे लेकर इंडस्ट्री के मिले-जुले रिस्पॉन्स मिल रहे हैं। आईपीएल के दौरान कई छोटी-बड़ी फिल्में रिलीज होने जा रही हैं, जबकि पहले ये माना जा रहा था कि आईपीएल के दौरान कम से कम बड़ी फिल्में तो रिलीज नहीं होंगी। वार्नर ब्रदर्स ने साफ कर दिया है कि वह अपनी चारों फिल्में इसी दौरान रिलीज करेगा।

परीक्षाओं की वजह से मार्च-अप्रैल का समय वैसे भी सूखे की श्रेणी में आता है। 12 मार्च से 25 अप्रैल के दौरान, जो फिल्में रिलीज हो रही हैं, वे या तो कम बजट वाली हैं या ऐसी जिन्हें कभी भी आने का कोई फर्क नहीं पड़ता या फिर जो लंबे समय से अटकी पड़ी थीं।

सनी देयोल की 'राइट एंड रॉन्ग', विक्रम भट्ट की 'शापित', 'स्वाहा', 'मित्तल वर्सेज मित्तल', श्याम बेनेगल की 'वैलडन अब्बा', विवेक ओबरॉय की 'प्रिंस', रितेश देशमुख की 'जाने कहां से आई है', 'बंदा यह बिंदास है', नाना पाटेकर-डिंपल कपाड़िया की 'तुम मिलो तो सही', रामू की 'फूंक-2', 'अपार्टमेंट', 'रन भोला रन' जैसी फिल्में आईपीएल के दौरान रिलीज होंगी।

इन फिल्मों का बजट बड़ा नहीं है और स्टार कास्ट भी सो सो है। हालांकि मैच शाम को शुरु होंगे, लेकिन इससे भी रोज के दो शो तो प्रभावित होंगे ही। यही कारण है कि फिल्म वाले बड़ी फिल्मों की रिलीज को आगे खिसका रहे हैं। जी3एस मल्टीप्लेक्स के महाप्रबंधक सतीश गर्ग कहते हैं कि 'आईपीएल के कारण बड़ी फिल्मों की रिलीज टालना समझदारी है।' पर दिग्गजों का मानना है कि अगर फिल्म दमदार हो तो उसे देखने दर्शक जरूर पहुंचते हैं।

सवाल यही है कि 'दमदार' फिल्में अब बन कहां रही हैं। पिछले साल आईपीएल देश से बाहर हुआ, लेकिन फिल्म इंडस्ट्री फिर भी घाटे में रही। इसकी वजह थी निर्माताओं और मल्टीप्लेक्स मालिकों के बीच हुई नोंक-झोंक। करीब डेढ़ महीने की हड़ताल रही। लेकिन इस बार वार्नर ब्रदर्स द्वारा उठाया गया कदम हवा के रुख के खिलाफ दिख रहा है। 'अतिथि तुम कब जाओगे' के बाद वार्नर 'क्लैश ऑफ द टाईटन्स', 'जाने कहां से आयी है' व हिंदी एनिमेशन फिल्म 'बर्ड आइडल' आईपीएल के दौरान रिलीज करने का मन बना चुका है। वार्नर ब्रदर्स के  डेंजिल डायस कहते हैं कि 'अधिकांश वितरक ऐसा करने से कतराते हैं, पर मुझे पूरा विश्वास है कि हमारी फिल्मों का जादू दर्शकों के सिर चढ़ कर बोलेगा।' तो अब देखना बाकी है कि क्या वाकई में इस बार आईपीएल फिल्मों की आवक पर असर डालेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल तले दबी बड़ी फिल्मों की आवक