खत्म हो रही है घरानों की परंपरा: गिरिजा देवी - खत्म हो रही है घरानों की परंपरा: गिरिजा देवी DA Image
22 नवंबर, 2019|4:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खत्म हो रही है घरानों की परंपरा: गिरिजा देवी

खत्म हो रही है घरानों की परंपरा: गिरिजा देवी

ठुमरी की रानी कहलाने वाली वरिष्ठ शास्त्रीय गायिका गिरिजा देवी का मानना है कि शास्त्रीय संगीत में घरानों की परंपरा अब खत्म हो रही है। गिरिजा ने कहा कि आज संगीत पूरी तरह मिश्रण बन गया है। घरानों की परंपरा अब सिर्फ पुरानी पीढ़ी के कुछ लोगों ने कायम रखी हुई है। मेरे जैसे कुछ कलाकार घराने की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं।

बनारस घराने से जुड़ी पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त 80 वर्षीय गायिका ने कहा कि संगीत की ओर खिंचने वाले युवा कलाकार कम समय में लोकप्रियता और पैसा चाहते हैं और इसलिए हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत की उपेक्षा कर रहे हैं, जिसमें ज्यादा समर्पण और अभ्यास की जरूरत है।

गिरिजा ने कहा कि आज के युवा फटाफट लोकप्रियता और पैसा चाहते हैं। वह सब कुछ करना चाहते हैं। हम दाल और रोटी पर रहते हैं, उन्हें पिज्जा और चीनी खाना चाहिए। इस बात पर जोर देते हुए कि संगीत के स्कूलों के निर्माण के बारे में गंभीर विचार होना चाहिए, उन्होंने कहा कि उन्होंने इस बारे में दूसरे संगीतकारों से विमर्श किया है।


वरिष्ठ गायिका गिरिजा देवी ने इस विचार पर भी जोर दिया कि एक संगठित प्रारूप होना चाहिए, जिसमें घराने के गुरू जिसे अपना शिष्य बनाए उनके बारे में यह सुनिश्चित करें कि शिष्य घराने की परंपरा को कायम रखें। उन्होंने कहा कि हमें इस बारे में गंभीरता से विचार करने की जरूरत है। गिरिजा ने कहा कि उन्हें आशा है कि उनके शिष्य उनके घराने की परंपरा को आगे बढ़ाएंगे।

संगीत से जुड़े रिएलिटी शोज के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी अवधारणा पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कोई एक जीतता है और बाकी 20 पिछड़ जाते हैं। उन्होंने कहा कि एक अकेला गायक एक करोड़ की राशि लेकर घर जाता है, जिससे 20 लोगों को छात्रवृत्ति दी जा सकती है। गिरिजा ने कहा कि उन्होंने कई ऐसे शोज में जज बनना नामंजूर कर दिया, क्योंकि उनमें अंतिम फैसला दर्शकों के मतों से होता है और जजों की कोई भूमिका नहीं रह जाती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खत्म हो रही है घरानों की परंपरा: गिरिजा देवी