ठंडे बस्ते में चला गया लायन सफारी बनाने का मामला - ठंडे बस्ते में चला गया लायन सफारी बनाने का मामला DA Image
14 नबम्बर, 2019|6:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ठंडे बस्ते में चला गया लायन सफारी बनाने का मामला

उत्तर प्रदेश में इटावा के बीहडों में पर्यटन को बढ़ावा देने और डाकुओं की समस्या से निजात के लिए छह साल पहले लायन (शेर) सफारी बनाने की योजना अब ठंडे बस्ते में चली गई है। सन 2004 में इटावा के बीहडों के150 हेक्टेयर में फैले मछली पालन जंगल में परिस्थितियों को शेरों के अनुकूल बनाने और उनके प्रजनन समेत लायन सफारी बनाने की परियोजना तैयार की गई थी। परियोजना में तालाब और घास के मैदान विकसित कर उसे शेरों के रहने के अनुकूल बनाया जाना था।

तत्कालीन सरकार का मकसद था कि इससे राज्य में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा इटावा को काफी हद तक चंबल में पल रहे डाकुओं के आतंक से मुक्ति मिल जाएगी।

पर्यटक शेरों को नजदीक से देख सकें इसकी भी व्यवस्था की जाएगी और वाच टावर बनाए जाएंगे। सफारी में घूमने वालों के लिए बंद जीप की व्यवस्था होगी। बबूल के कांटेदार जंगलों को चौड़ी पत्ती वाले पेड़ों में बदल कर सफारी के अन्दर हाथी और बंद जीप में बैठकर शेरों को विचरण करते देखा जा सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ठंडे बस्ते में चला गया लायन सफारी बनाने का मामला