एसटीएच में शुरू होगा एआरटी सेंटर - एसटीएच में शुरू होगा एआरटी सेंटर DA Image
14 दिसंबर, 2019|1:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसटीएच में शुरू होगा एआरटी सेंटर


एड्स रोगियों के निशुल्क उपचार के लिए इस महीने के आखिरी हफ्ते तक सुशीला तिवारी अस्पताल में एआरटी यानी एन्टी रेट्रोरियम थेरेपी सेंटर चालू हो जाएगा। यहां न केवल एड्स रोगियों का निशुल्क उपचार होगा, बल्कि निशुल्क दवा वितरण, डायग्नोसिस और समाज को एड्स के प्रति जागरुक करने का कार्य भी किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि अभी तक उत्तराखण्ड में केवल देहरादून के दून अस्पताल में ही एआरटी केन्द्र की सुविधा है, जहां एड्स रोगियों का उपचार किया जाता है। इसके अलावा श्रीनगर, हरिद्वार, हल्द्वानी बेस अस्पताल और पिथौरागढ़ में इसके लिंक सेंटर हैं, जहां देहरादून के एआरटी सेन्टर से ही दवाईयां आती थी। नगर में केन्द्र न होने के कारण कुमाऊं के रोगियों को हर 6 महीने में टेस्ट और उपचार के लिए देहरादून के एआरटी केन्द्र जाना पड़ता है। ये केन्द्र नाको यानी नेशनल एड्स कन्ट्रोल ऑर्गेनाइजेशन और सेक्स यानी स्टेट एड्स कन्ट्रोल सोसाइटी द्वारा संचालित किये जाते है।

इनका काम ना केवल एड्स के रोगियों की जांग और उपचार करना है बल्कि ये केन्द्र समय समय पर सोसाईटी एजुकेशन के कार्यक्रम भी आयोजित करते रहते हैं। बेस अस्पताल के डा. नीलम्बर भट्ट ने बताया कि  हल्द्वानी बेस अस्पताल के लिंक सेंटर में बागेश्वर, अल्मोड़ा, उधमसिंह नगर और  नैनीताल जनपदों के लगभग 62 एड्स रोगी उपचार के लिए आते हैं। इन्हें अब तक हर 6 महीने में टेस्ट और जांच के लिए देहरादून के केन्द्र जाना पड़ता था। 

एसटीएच में यह सुविधा मार्च के पहले हफ्ते में शुरू हो जानी चाहिए थी पर केन्द्र के लिए संविदा पर नियुक्त हुए स्टाफ के ट्रेनिंग पर चले जाने और दवाओं के समय पर उपलब्ध ना हो पाने के कारण यह समय पर शुरू नहीं हो पाया। इस केन्द्र का नोडल अधिकारी डा. एसआर सक्सेना को बनाया गया है। उन्होंने बताया कि 18 मार्च को स्टाफ के लौटने के बाद केन्द्र में रोगियों की जांच और उपचार का काम शुरू कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसटीएच में शुरू होगा एआरटी सेंटर