एफसीआई अबकी गेहूँ खरीदेगी कम, रखेगी पूरा - एफसीआई अबकी गेहूँ खरीदेगी कम, रखेगी पूरा DA Image
20 नबम्बर, 2019|12:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एफसीआई अबकी गेहूँ खरीदेगी कम, रखेगी पूरा

अब भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) दो लाख मीट्रिक टन ही गेहूँ खरीदेगा जबकि भण्डारण पूरे 40 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का करेगा। यह फैसला राज्य के खाद्य विभाग और एफसीआई के आला अफसरों के बीच गेहूँ भण्डारण को लेकर गुरुवार को हुई अहम बैठक में लिया गया। खाद्य विभाग के अफसरों ने एफसीआई से कहा है कि पंजाब-हरियाणा से भारी मात्र में गेहूँ यूपी न लाया जाए।

सूत्रों के अनुसार आज की बैठक में गेहूँ भण्डारण को लेकर ऊहापोह की स्थिति काफी हद तक दूर हो गई है। खाद्य विभाग के अफसरों ने साफ कर दिया कि राज्य सरकार का नीतिगत निर्णय होने के कारण खाद्य विभाग किसी भी हालत में गेहूँ का भण्डारण नहीं करेगा। इसके बाद बैठक में एफसीआई की समस्या हल करने के लिए यह फामरूला निकाला गया कि वह गेहूँ कम खरीदे और सारा ध्यान भण्डारण पर लगाए।

दो लाख मीट्रिक टन खरीद के लिए उसे अब सिर्फ सौ खरीद केन्द्र खोलने होंगे जबकि पहले  खाद्य निगम को दस लाख मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद करनी थी जिसके लिए पाँच सौ खरीद खोलने थे। जबकि एफसीआई के हिस्से का मिलाकर अब राज्य सरकार की खरीद एजेन्सियाँ 38 लाख मीट्रिक टन गेहूँ खरीदेंगी। बैठक में एयरस्ट्रिप, मण्डी यार्ड समेत दूसरी सुरक्षित जगहों पर भी गेहूँ भण्डारण पर विचार किया गया।

बैठक में राज्य खाद्य विभाग के अफसरों ने एफसीआई से पंजाब-हरियाण से और गेहूँ न मँगाने के लिए कहा है। अफसरों का कहना था कि गेहूँ की यूपी में बम्पर पैदावार हुई है। मौसम को देखते हुए इस बार आवक भी जल्दी हो जाएगी। ऐसे में, पंजाब से गेहूँ मँगा कर यहाँ डम्प करने का कोई औचित्य नहीं है। उलटे कच्ची चीनी  की तरह इसको लेकर किसानों में प्रतिक्रिया हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एफसीआई अबकी गेहूँ खरीदेगी कम, रखेगी पूरा