शीर्ष टीमों के बाहर होने से भारतीय का पलड़ा भारी - शीर्ष टीमों के बाहर होने से भारतीय का पलड़ा भारी DA Image
21 नवंबर, 2019|6:01|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीर्ष टीमों के बाहर होने से भारतीय का पलड़ा भारी

शीर्ष टीमों के बाहर होने से भारतीय का पलड़ा भारी

ओलंपिक पदक विजेता विजेंदर सिंह, राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक धारी अखिल कुमार और एशियाई चैम्पियन सुरंजय सिंह की मौजूदगी से भारतीय टीम शुक्रवार को नई दिल्ली में शुरू होने वाली राष्ट्रमंडल मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी।

आस्ट्रेलिया, कनाडा, घाना, पाकिस्तान और आयरलैंड के हटने से टूर्नामेंट की चमक कुछ फीकी हो गई है लेकिन इसमें गत चैम्पियन इंग्लैंड और स्काटलैंड समेत 14 टीमें तालकटोरा में होने वाली चैम्पियनशिप में शिरकत करेंगी और करीब 100 मुक्केबाज भाग लेंगे।

राष्ट्रीय कोच जीएस संधू ने कहा कि टीमों के बाहर होने के बावजूद इंग्लैंड और स्काटलैंड की टीमें काफी अच्छी हैं, लेकिन हमारे मुक्केबाज भी चैम्पियनशिप के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

भारत ने ग्लास्गो में 2002 में हुई राष्ट्रमंडल टीम चैम्पियनशिप में चार स्वर्ण, तीन रजत पदक जीते थे, लेकिन 2005 में एक स्वर्ण, दो रजत और तीन कांस्य पदक जीतकर उप विजेता की ट्राफी हासिल की थी।

चौबीस वर्षीय विजेंदर (75 किग्रा) निश्चित रूप से अपने वर्ग में प्रबल दावेदार हैं, जिन्होंने बीजिंग ओलंपिक और मिलान में हुई विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रचा था।

अखिल अब नये बैंथमवेट (56 किग्रा) में खेलेंगे क्योंकि फेदरवेट (57 किग्रा) को खत्म कर दिया गया। पिछले साल कलाई की चोट से परेशान रहे 28 वर्षीय अखिल का ड्रॉ सबसे कठिन हो सकता है और उनके मारीशस के ओलंपिक कांस्य पदकधारी ब्रुनो जूली से भिड़ंत होने की संभावना है।

वहीं भारत के पदक के प्रबल दावेदार सुरंजय सिंह (52 किग्रा) भी हैं, जो मौजूदा एशियाई चैम्पियन और पिछले साल प्रेसिडेंट कप के स्वर्ण पदकधारी हैं। पिछले साल के युवा राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदकधारी 19 वर्षीय बलविंदर बेनीवाल (64 किग्रा) भी अपने चचेरे भाई विजेंदर के साथ शानदार प्रदर्शन करने की उम्मीद लगाये हैं।

वही लाइटवेट में जय भगवान (60 किग्रा) शामिल हैं, जिन्होंने पिछले साल एशियाई चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता था जबकि ओलंपियन दिनेश कुमार अपने लाइट हेवी वेट (81 किग्रा) वर्ग में प्रबल दावेदार होंगे।

टीम इस प्रकार है।

अमनदीप सिंह (49 किग्रा), सुरंजय सिंह (52 किग्रा), अखिल कुमार (56 किग्रा), जय भगवान (60 किग्रा), बलविंदर बेनीवाल (64 किग्रा), विजेंदर सिंह (75 किग्रा), दिनेश कुमार (81 किग्रा), मनप्रीत सिंह (91 किग्रा), परमजीत समोटा (91 किग्रा से अधिक)।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शीर्ष टीमों के बाहर होने से भारतीय का पलड़ा भारी