आत्मसम्मान की लड़ाई में अर्जेंटीना से भिड़ेगा भारत - आत्मसम्मान की लड़ाई में अर्जेंटीना से भिड़ेगा भारत DA Image
15 नबम्बर, 2019|12:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आत्मसम्मान की लड़ाई में अर्जेंटीना से भिड़ेगा भारत

आत्मसम्मान की लड़ाई में अर्जेंटीना से भिड़ेगा भारत

सेमीफाइनल का सपना लिए विश्व कप में उतरी भारतीय हॉकी टीम अब सातवें स्थान के लिए मुकाबले में शुक्रवार को अर्जेंटीना से भिड़ेगी, जो टूर्नामेंट में पिछले 16 साल में उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन होगा।

भारतीय टीम 1994 विश्व कप में पांचवें स्थान पर रही थी। इसके बाद 1998 (नौवें), 2002 (10वें) और 2006 (11वें) के विश्व कप में उसका प्रदर्शन लगातार गिरता गया। अपनी मेजबानी में 28 बरस बाद हो रहे विश्व कप में पहले ही मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर 4-1 से बेहतरीन जीत दर्ज करके राजपाल सिंह की टीम ने पदक जीतने की उम्मीदें जताई थी, लेकिन बाद में मैच दर मैच लचर प्रदर्शन से सभी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।
     
विश्व कप में चमत्कारिक प्रदर्शन की उम्मीद नहीं करने की दुहाई देने वाले स्पेनिश कोच जोस ब्रासा ने स्वीकार किया कि यूरोपीय टीमों की तरह तेज रफ्तार हॉकी का गुर सीखने में भारत को समय लगेगा। ब्रासा ने मुताबिक ऑस्ट्रेलिया, हालैंड, जर्मनी और इंग्लैंड जिस तरह खेलते हैं, हम रफ्तार में उनका मुकाबला नहीं कर सकते। वैसी रफ्तार और स्टेमिना हासिल करके ही हम फिर इस बिग लीग में शामिल हो सकते हैं।

पहला मैच जीतने के बाद भारत को ऑस्ट्रेलिया (5-2), स्पेन (5-2) और इंग्लैंड (3-2) ने हराया जबकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आखिरी पूल मैच 3-3 से ड्रॉ रहा। इसमें हालांकि वीडियो रेफरल प्रणाली की भूमिका विवादास्पद रही थी।

पूल-बी में चौथे स्थान पर रही भारतीय टीम का सामना पूल-ए की चौथे नंबर की टीम अर्जेंटीना से है, जिसने आखिरी दो मैचों में शानदार प्रदर्शन करके न्यूजीलैंड और कनाडा को हराया। पिछले विश्व कप में दसवें स्थान पर रही अर्जेंटीना के कोच जार्ज लोम्बी ने स्वीकार किया कि भारत के खिलाफ मुकाबला कठिन होगा लेकिन उनकी टीम के हौसले बुलंद है।

लोम्बी ने कहा कि भारत को अपनी धरती पर खेलने का फायदा मिलेगा। साथ ही दर्शकों का समर्थन भी मायने रखता है लेकिन हमने पिछले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है। खासकर लुकास मार्टिन विला, प्रेडो इबारा और थामस अर्जेंटो इनोसेंट से मुझे बहुत उम्मीदें हैं।

पूर्व चैंपियन भारत के लिए आक्रमण का दारोमदार पिछले मैच में शानदार फॉर्म में रहे शिवेंद्र सिंह, सरवनजीत सिंह और कप्तान राजपाल सिंह पर होगा। दीपक ठाकुर और प्रभजोत सिंह के पास अपनी उपयोगिता साबित करने का यह आखिरी मौका होगा। पहले मैच को छोड़कर हर मैच में भारत की कमजोर कड़ी साबित हुए ड्रैग फ्लिकर संदीप सिंह भी बेहतर प्रदर्शन की फिराक में होंगे। वहीं डिफेंस में धनंजय महाडिक, भरत चिकारा और विक्रम पिल्लै को अर्जेंटीनाई स्ट्राइकरों पर अंकुश लगाना होगा।

शुक्रवार को अन्य मैचों में दोनों पूलों की पांचवें नंबर की टीम यानी न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका नौवें-दसवें स्थान के लिए भिड़ेंगी। वहीं पांचवें-छठे स्थान के लिए दक्षिण कोरिया का सामना स्पेन से होगा। दोनों अपने-अपने पूल में तीसरे स्थान पर रहे।

मैच का समय
न्यूजीलैंड बनाम दक्षिण अफ्रीका (दोपहर 3:35)
भारत बनाम अर्जेंटीना (शाम 6:35)
स्पेन बनाम दक्षिण कोरिया (रात 8:35)

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आत्मसम्मान की लड़ाई में अर्जेंटीना से भिड़ेगा भारत