चलन जारी रहा तो पलट जाएगा केकेआर का भाग्य - चलन जारी रहा तो पलट जाएगा केकेआर का भाग्य DA Image
9 दिसंबर, 2019|9:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चलन जारी रहा तो पलट जाएगा केकेआर का भाग्य

चलन जारी रहा तो पलट जाएगा केकेआर का भाग्य

इंडियन प्रीमियर लीग में यदि पिछली बार की फिसड्डी टीमों का अगले टूर्नामेंट में चोटी पर पहुंचने का चलन जारी रहता है तो गुरुवार से शुरू होने वाले इस टवेंटी20 टूर्नामेंट के तीसरे सत्र में कोलकाता नाइटराइडर्स और मुंबई इंडियन्स का भाग्य पलट सकता है।

वैसे यदि सभी आठ टीमों की बात करें तो दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम अब भी सबसे अधिक संतुलित और कागजों पर काफी मजबूत लगती है, लेकिन गौतम गंभीर की अगुवाई वाली इस टीम को चोकर बनने से बचना होगा।

पिछले साल के विजेता डेक्कन चार्जर्स और उपविजेता रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु का गेंदबाजी विभाग कमजोर लगता है तो किंग्स इलेवन पंजाब चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझ रहा है। चेन्नई सुपरकिंग्स के कुछ प्रमुख खिलाड़ी नहीं खेल रहे हैं, जबकि नाइटराइडर्स और मुंबई इंडियन्स की कमजोर कड़ी भारत के युवा खिलाड़ी हो सकते हैं। राजस्थान रायल्स के अनजान खिलाड़ियों की तरह यदि दूसरी टीमों के खिलाड़ी भी हैरतअंगेज प्रदर्शन करते हैं तो फिर आईपीएल को लेकर अधिकतर भविष्यवाणियों के गलत साबित होने की पूरी संभावना है।

अभी सट्टा बाजार गर्म नहीं हुआ है, लेकिन पिछले दो आईपीएल के समीकरणों को लेकर भावी विजेता की तस्वीर बनाई जा रही है। डेक्कन चार्जर्स 2008 में सबसे निचली जबकि बेंगलुरु सातवें स्थान पर रहा था, लेकिन 2009 में ये दोनों क्रमश: विजेता और उप विजेता रहे। तो क्या अब नाइटराइडर्स और मुंबई इंडियन्स की बारी है जो अब तक आईपीएल में कभी सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाई।

सौरव गांगुली की नाइटराइडर्स के पास क्रिस गेल, ब्रैड हाज, मनोज तिवारी और ओवेस शाह अच्छे क्रिकेटर हैं, लेकिन टीम में शामिल भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर काफी कुछ निर्भर करेगा, जिनमें से कई अच्छी फार्म में नहीं हैं। शेन बांड, चार्ल लांगवेल्ट, इशांत शर्मा और अजंता मेंडिस की मौजूदगी में उसका गेंदबाजी विभाग मजबूत दिखता है। श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज ट्रंप कार्ड हो सकते हैं।

मुंबई इंडियन्स के कप्तान सचिन तेंदुलकर बेहतरीन फार्म में चल रहे हैं, जबकि सनत जयसूर्या धमाकेदार प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। कीरेन पोलार्ड से भी टीम को बहुत सी आशाएं हैं, लेकिन उसे शिखर धवन और अंबाती रायुडु जैसे भारतीय खिलाड़ियों का अच्छा इस्तेमाल करना चाहिए जो टीम के लिए अहम साबित हो सकते हैं।

वीरेंद्र सहवाग, गंभीर, डेविड वार्नर, तिलकरत्ने दिलशान, एबी डिविलियर्स, दिनेश कार्तिक जैसे बल्लेबाजों तथा डर्क नानेस, आशीष नेहरा, वायने पर्नेल, डेनियल विटोरी और अमित मिश्रा सरीखे गेंदबाजों के अलावा प्रतिभाशाली स्थानीय खिलाड़ियों की मौजूदगी में डेयरडेविल्स की टीम बहुत मजबूत दिखती है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या पिछले दो बार की सेमीफाइनलिस्ट इस बार इससे आगे बढ़ पाएगी।

किंग्स इलेवन पंजाब में युवराज सिंह, ब्रेट ली, शान मॉर्श जैसे खिलाड़ी चोटिल हैं। इस टीम में कप्तान कुमार संगकारा, आद्रियान बराथ, रवि बोपारा, जेम्स होप्स, महेला जयवर्धने, यूसुफ अब्दुल्ला, ली और मार्श जैसे अच्छे विदेशी खिलाड़ी हैं, लेकिन आईपीएल के नियम के अनुसार अंतिम एकादश में चार ही विदेशी शामिल हो सकते हैं ऐसे में संगकारा को भारतीय खिलाड़ियों से भी अच्छा प्रदर्शन करवाना होगा।

पिछले चैंपियन चार्जर्स में सबकी निगाह एंड्रयू साइमंडस पर होगी, जो ऑस्ट्रेलियाई टीम से बाहर हैं। एडम गिलक्रिस्ट, रोहित शर्मा, वीवीएस लक्ष्मण, हर्शल गिब्स, मिशेल मार्श, वेणुगोपाल राव, टी सुमन की मौजूदगी में उसकी बल्लेबाजी मजबूत दिखती है, लेकिन उसकी गेंदबाजी कमजोर दिखती है। पिछले आईपीएल में सर्वाधिक 23 विकेट लेने वाले आरपी सिंह भारतीय पिचों पर खास सफल नहीं रहे हैं।

बेंगलुरु के पास विराट कोहली, रोबिन उथप्पा, मनीष पांडे, अभिमन्यु मिथुन, आर विनयकुमार, श्रीवत्स गोस्वामी जैसे अच्छे भारतीय खिलाड़ी हैं। टीम का नया चेहरा इयोन मोर्गन मध्यक्रम में मजबूती प्रदान करेंगे, लेकिन उसकी गेंदबाजी कमजोर है क्योंकि डेल स्टेन टवेंटी20 में टेस्ट जैसा कमाल नहीं दिखा पाते, जबकि कप्तान अनिल कुंबले ने लंबे समय से गेंदबाजी नहीं की है ।

महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स को चोटिल एंड्रयू फ्लिन्टाफ और जैकब ओरम की कमी खलेगी जबकि माइकल हसी भी मार्च के मैचों में नहीं खेलंेगे । जस्टिन कैंप मध्यक्रम को मजबूती दे सकते हैं । टीम को ऐसे में मैथ्यू हेडन, धोनी और सुरेश रैना से अच्छे प्रदर्शन की आस करनी होगी।

शेन वार्न की राजस्थान रायल्स की ताकत उसके युवा और गुमनाम खिलाड़ी हैं। इस बार देखना यह होगा कि वार्न का तुरूप का इक्का कौन बनता है। पहले आईपीएल में स्वप्निल असनोदकर तो दूसरे में कामरान खान। अब कौन यह अगला डेढ़ महीना ही बताएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चलन जारी रहा तो पलट जाएगा केकेआर का भाग्य