महंगाई पर यूपीए सरकार भी चिंतित : हुड्डा - महंगाई पर यूपीए सरकार भी चिंतित : हुड्डा DA Image
13 नबम्बर, 2019|12:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई पर यूपीए सरकार भी चिंतित : हुड्डा

मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने मंहगाई पर विपक्ष की चिन्ता से सहमति जताते हुए मंगलवार को कहा कि इस मामले पर केन्द्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबन्धन (संप्रग) सरकार भी बहुत चिंतित है और इसे नियन्त्रित करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। प्रस्ताव विपक्ष की भागीदारी के बिना ही पारित हो गया।

हुड्डा हरियाणा विधान सभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर कांग्रेस के कुलदीप शर्मा द्वारा पेश किए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब दे रहे थे। इस मौके पर विपक्ष की सारी सीटें खाली थीं क्यों कि इनेलो व भाजपा सदस्यों को कल शोर-शराबा करने और व्यवधान डालने पर विधान सभा अध्यक्ष हरमोहिन्दर सिंह चट्ठा ने शेष सत्र के लिए निलम्बित कर दिया था।

अपने जवाब के दौरान मुख्यममंत्री ने एक बार फिर चंडीगढ़ में हरियाणा का अलग उच्च न्यायालय बनाने के अपने प्रयासों की प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने कहा कि देश के मुख्य न्यायाधीश द्वारा प्रदेश के लिए अलग उच्च न्यायालय बनाने को सैद्धांतिक रूप से सहमति दी जा चुकी है।

चंडीगढ़ के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि उसका सम्बन्ध हरियाणा से उसी तरह है जैसा पंजाब से। प्रदेश में पंजाबी को दूसरी भाषा के रूप में लागू करने के बारे में हुड्डा ने कहा कि इसे पहली बार उनकी सरकार ने लागू करने के लिए अधिसूचना जारी की और प्रोत्साहित किया। अलग शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के गठन पर हुड्डा ने कहा कि चट्ठा कमेटी की रिपोर्ट पर कानूनी राय ली जा रही है। इस सम्बन्ध में निर्णय राज्य के सिखों की आकांक्षाओं के अनुरूप ही लिया जायेगा।

पंजाब द्वारा अपने कुछ विज्ञापनों में चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को मोहाली हवाई अड्डे के रूप में पेश किए जाने पर उन्होंने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि देश में मोहाली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा नाम से कोई हवाई अड्डा नहीं है।
इसके पूर्व संसदीय कार्य मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज शून्यकाल के दौरान अपने एक वक्तव्य में कहा कि यह कहना गलत है कि राज्य सरकार आवश्यक वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर असफल हो गई है। उन्होंने कहा कि समस्या को केन्द्र व राज्य दोनों के द्वारा ही अलग-अलग व संयुक्तरूप से निपटाए जाने की आवश्यकता है।
उनका कहना था कि आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोत्तरी विश्वव्यापी है। इसका असर भारत तथा हरियाणा पर पड़ना स्वाभाविक था। खाद्य पदाथरे के विश्वव्यापी उत्पादन में कमी तथा मांग में बढ़ोत्तरी ने कीमतों को प्रभावित किया है। यह धारणा गलत है कि राज्य सरकार महंगाई को रोकने के मुद्दे पर असफ रही है।

यह बात सर्वविदित है कि देश में बढ़ती जनसंख्या तथा सूखे के कारण पिछले वर्ष उत्पादन में आई कमी, चीनी तथा दालों के उत्पादन में कमी इत्यादि इसके कारण हैं। इस मौके पर उन्होंने उन सारे कदमों को रेखांकित किया जो उसने कीमतों पर नियन्त्रण के लिए उठाए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महंगाई पर यूपीए सरकार भी चिंतित : हुड्डा