तारापुर संयंत्र की तर्ज पर बनेगा कुम्हरिया परमाणु बिजली केंद्र - तारापुर संयंत्र की तर्ज पर बनेगा कुम्हरिया परमाणु बिजली केंद्र DA Image
19 नबम्बर, 2019|10:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तारापुर संयंत्र की तर्ज पर बनेगा कुम्हरिया परमाणु बिजली केंद्र

गोरखपुर-कुम्हारिया में प्रस्तावित परमाणु बिजली संयंत्र का निर्माण तारापुर स्थित परमाणु बिजली संयंत्र के डिजाइन पर आधारित होगा। इस संयंत्र का डिजाइन तैयार कर लिया गया है। उम्मीद की जा रही है कि इस संयंत्र के निर्माण के लिए इस वर्ष भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस संयंत्र के निर्माण के संबंध में न्यूक्लियर पावर कापरेरेशन आफ इंडिया लिमिटड के तहत गोरखपुर-कुम्हारिया में लगने वाले सयंत्र के परियोजना निदेशक जे.के. जैन ने बताया कि संयंत्र को सरकार की तरफ से सिद्धांत रूप में मंजूरी मिल चुकी है।

इसके बाद न्यूक्लियर पावर कापरेरेशन आफ इंडिया लिमिटड की तरफ से भूमि अधिग्रहण का कार्य शुरू किया जाएगा। संयंत्र को लगाने से पहले प्रस्तावित भूमि के आसपास के क्षेत्र का सर्वे कार्य शुरू हो चुका है। इसमें यह देखा जाएगा कि वर्तमान पर्यावरण परिस्थितियां क्या हैं और यहां के लोगों का स्वाथ्य व रहन-सहन कैसा है। भूमि अधिग्रहण के बाद यहां की जमीन पर कुछ टेस्ट किए जाएंगे, जिनके आधार पर एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी और उसे परमाणु बिजली संयंत्र से जुड़ी एक एजेंसी को सौंपा जाएगा।

यह एजेंसी उन रिपोर्ट के आधार पर परमाणु बिजली संयंत्र स्थापित करने की फाइनल मंजूरी दे देगी, जिसके बाद निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। न्यूक्लियर पावर कापरेरेशन आफ इंडिया लिमिटड ने जमीन अधिग्रहण, जांच कार्य व रिपोर्ट बनाकर तैयार करने के लिए 2क्12 तक की समय सीमा निर्धारित की है, लेकिन उम्मीद है कि यह काम इससे पहले पूरा हो जाएगा। यह कार्य पूरा होते ही संयंत्र का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

जैन ने बताया कि गोरखपुर-कुम्हारिया में लगने वाला परमाणु बिजली सयंत्र पूरी तरह से स्वदेशी तकनीक पर आधारित आधुनिक सयंत्र होगा। इस सयंत्र में 7क्क् मैगावाट के चार प्लांट लगेंगे और यहां से कुल 28क्क् मैगावाट बिजली का उत्पादन होगा।

प्रथम चरण में दो यूनिट लगाई जाएंगी। संयंत्र स्थापित करने के लिए 1.6 किलोमीटर दायरे की भूमि अधिग्रहण की जाएगी। इसके बाद 5 किलोमीटर तक के दायरे में पूरी तरह से नजर रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह संयंत्र फतेहाबाद जिले की तकदीर बदल देगा और क्षेत्र की विकास दर वर्तमान दर से बहुत तेजी से बढ़ेगी। लोगों का लाइफ स्टाइल व स्टैंडर्ड बदल जाएगा।

उन्होंने बताया कि इस परियोजना पर अब तेजी से काम चल रहा है। न्यूक्लियर पावर कापरेरेशन आफ इंडिया लिमिटड ने हिसार में अब इस परियोजना का अपना कार्यालय भी खोल लिया है। यह कार्यालय विद्युत नगर में खोला गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तारापुर संयंत्र की तर्ज पर बनेगा कुम्हरिया परमाणु बिजली केंद्र