DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया मंदी की चपेट में, पर भारत में विकास दर बढ़िया

‘क्या इंडिया का वोट चलाएगा दुनिया का नोट?’ अमेरिका, इंग्लैंड व तमाम यूरोपीय देश जहां आर्थिक मंदी से तबाह हैं वही भारत में स्थिति उतनी बुरी नहीं है। भारत व चीन में मंदी के बावजूद विकास दर बढ़िया है। भारतीय अर्थव्यवस्था क्या दुनिया को इस आर्थिक मंदी से उबार सकेगी, इसी संभावना को तलाशने व उक्त स्लोगन के साथ बीबीसी के जर्नलिस्टों का दल तीन हफ्ते के भारत भ्रमण पर निकला है। साथ ही अन्य सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक मुद्दों की भी पड़ताल बीबीसी के पत्रकार कर रहे हैं।ड्ढr ड्ढr बीबीसी इंडिया इलेक्शन ट्रन बीबीसी के तीस पत्रकारों को लेकर शनिवार को पटना पहुंची। गत 25 अप्रैल को नई दिल्ली से यह ट्रन विदा हुई थी व देश के विभिन्न भागों का दौरा कर 13 मई को नई दिल्ली में खत्म होगी। बीबीसी वर्ल्ड न्यूज के एसाइनमेंट एडिटर मार्क पेरो व बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के इंडिया एडिटर संजीव श्रीवास्तव ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह जानकारी दी। इस मौके पर बीबीसी बिहार के प्रमुख मणिकांत ठाकुर भी मौजूद थे। इस टीम में पत्रकार रहान फजल, अविनाश दत्त, सुशील झा, रूपा झा, ऐश्वर्य, वैशाली आदि भी शामिल हैं। टीम में बीबीसी के 12 भाषाओं व 14 बीबीसी सेवाओं के पत्रकार शामिल हैं। ट्रन दिल्ली, मुंबई, भुवनेश्वर, कोलकाता होते हुए पटना आयी है। हर स्टेशन पर लाइव प्रसारण किया जाता है।ड्ढr ड्ढr कोलकाता में सीएम बुद्धदेव भट्टाचार्य, भुवनेश्वर में नवीन पटनायक से टीम के सदस्यों ने बात की है। उनके मुताबिक बिहार प्रवास के दौरान यह जानने की कोशिश की जाएगी चुनाव में मतदान में विकास का सवाल अहम रहा कि जातिगत राजनीति। मुंबई में आर्थिक व सुरक्षा के मुद्दे और आईटी उद्योग, गुजरात में उद्यमशीलता की संस्कृति, खगौलीकरण, हैदराबाद में मार्जिनलाइजेशन और ई-गर्वनेंस, भुवनेश्वर में माओ घुसपैठियों का प्रभाव, कोलकाता में आधुनिक दुनिया में युवाओं के विचार, ग्रामीण शहरी विभाजन रखा, पटना व इलाहाबाद में राजनीति में संगठित अपराध व जाति की लड़ाई के सवालों का अध्ययन किया जाएगा। ट्रन से ही लाइव प्रसारण 12 मई को इलाहाबाद े व 15 को दिल्ली से होगा। रविवार को बीबीसी जर्नलिस्टों का दल अपने श्रोताओं से रू-ब-रू होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुनिया मंदी की चपेट में, पर भारत में विकास दर बढ़िया