महिला विधेयक के मुद्दे पर जद-यू में विभाजन साफ - महिला विधेयक के मुद्दे पर जद-यू में विभाजन साफ DA Image
9 दिसंबर, 2019|11:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला विधेयक के मुद्दे पर जद-यू में विभाजन साफ

महिला विधेयक के मुद्दे पर जद-यू में विभाजन साफ

महिला आरक्षण विधेयक पर जद-यू साफ बंटी हुई नजर आई। राज्यसभा में पार्टी के पांच सदस्यों ने जहां पक्ष में मतदान किया, वहीं लोकसभा में विधेयक को लेकर पार्टी के सांसद विभाजित नजर आए।

राज्यसभा में जनता दल यूनाइटेड के सदस्यों ने मंगलवार को लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं को दो तिहाई आरक्षण देने संबंधी ऐतिहासिक महिला आरक्षण विधेयक के पक्ष में मतदान किया।

राज्यसभा द्वारा महिलाओं को आरक्षण देने संबंधी संविधान संशोधन विधेयक को मंजूरी दिये जाने के तत्काल बाद जदयू के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य शिवानंद तिवारी ने कहा राज्यसभा में हम पांचों सदस्यों ने इस विधेयक के पक्ष में मतदान किया है।

राज्यसभा में जदयू के कुल सात सदस्य हैं इनमें जार्ज फनाडिस भी शामिल हैं जो अस्वस्थ हैं, जबकि एक अन्य सदस्य एजाज अली पार्टी से निलंबित हैं।

पार्टी के एक अन्य राज्यसभा सदस्य एन के सिंह ने कहा महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में यह एक ऐतिहासिक कदम हैं और हमने इसके पक्ष में मतदान किया है।

पार्टी परंपरागत रूप से महिला आरक्षण विधेयक के मौजूदा स्वरूप के खिलाफ रही है और पार्टी अध्यक्ष शरद यादव शुरू से हीं दलितों, पिछड़ों और मुस्लिम महिलाओं के लिए कोटे के अंदर कोटा की मांग करते रहे हैं। लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा महिला विधेयक को पारित किये जाने के पक्ष में बयान दिये जाने के साथ ही पिछले सप्ताह से पार्टी के अंदर नाटकीय ढंग से स्थिति में बदलाव आया है।

पार्टी अध्यक्ष शरद यादव ने कल अपने निवास पर पार्टी संसदीय दल की बैठक बुलाई थी लेकिन उस बैठक में कोई फैसला नहीं हो पाया । शिवानंद तिवारी ने बैठक के बाद बताया कि पार्टी सांसदों ने संसदीय दल के नेता रामसुंदर दास से अनुरोध किया है कि वे शरद यादव और नीतीश कुमार से बात कर कोई रास्ता निकालें अन्यथा राज्य सभा में पार्टी के सदस्य विधेयक पर मतदान के एक घंटा पहले अपना फैसला कर लेंगे।

महिला विधेयक के बारे में पार्टी ने राज्यसभा सदस्यों के लिए कोई व्हिप जारी नहीं किया था और उन्हें अपने मन से इस विधेयक पर फैसला करने के लिए छोड़ दिया था । महिला आरक्षण विधेयक पर पार्टी लाइन को साफ करने के इरादे से पार्टी की आज शाम होने वाली संसदीय दल की बैठक को भी टाल दिया गया।

लोकसभा में पार्टी के 20 सदस्यों में से 17 सदस्यों ने कल बैठक कर पार्टी अध्यक्ष को इस बात के लिए अधिकत किया था कि वे नीतीश कुमार से एक बार बातचीत कर इस विधेयक के बारे में मुख्य सचेतक को व्हिप जारी करने का निर्देश दें। शरद यादव ने आज कहा कि उनकी अभी इस मुद्दे पर नीतीश कुंमार से बातचीत नहीं हुई है।

शरद यादव ने कहा कि मेरी अभी नीतीश जी से बात नहीं हुई है। दो दिन पहले मैंने उनसे बात की थी और और एक बार फिर उनसे बात करूंगा।

उन्होंने यह भी बताया कि पार्टी संसदीय दल की आज शाम होने वाली बैठक को समय अभाव के कारण टाल दिया गया हैं ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिला विधेयक के मुद्दे पर जद-यू में विभाजन साफ