महादलित के नाम पर समाज को बांटा जा रहा है - बिहार सरकार महादलित के नाम पर समाज को बांट रही है: पासवान DA Image
12 दिसंबर, 2019|7:31|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार सरकार महादलित के नाम पर समाज को बांट रही है: पासवान

दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष और लोक जनशक्ति पार्टी के पूर्व सांसद रामचंद्र पासवान ने मंगलवार को आरोप लगाया कि बिहार सरकार ने महादलित के नाम पर समाज को बांटने का काम किया है।

पासवान ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बिहार सरकार ने महादलितों की सूची से सिर्फ पासवान जाति को अलग कर दिया है जो उनकी कुत्सित मानसिकता को दर्शाता है। अनुसूचित जाति का नाम बदल कर महादलित कर दिया गया है जिसकी दलित सेना कड़ी निंदा करती है। उन्होंने महादलित शब्द को अपमानसूचक बताया और बिहार सरकार से इस शब्द को हटाने की मांग की।

दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सरकारी आंकड़े का उल्लेख करते हुए कहा कि वर्तमान नीतीश सरकार के लगभग साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल में 4 लाख 72 हजार से अधिक अपराधिक घटनाएं हुई हैं।  जिसमें से दो लाख तीन हजार दलितों को ही निशाना बनाया गया है। आजादी के बाद इतनी संख्या में दलितों के उपर अत्याचार किसी भी दल के कार्यकाल में नहीं हुआ है।
 
पासवान ने कहा कि दलित सेना की ओर से तीन अप्रैल को पटना के एस.के. मेमोरियल हॉल में एक सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा जिसमें बिहार सरकार की दलित विरोधी नीतियों का खुलासा किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महादलित के नाम पर समाज को बांटा जा रहा है