अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खंडूरी को अभयदान, बनें रहेंगे मुख्यमंत्री

खंडूरी को अभयदान, बनें रहेंगे मुख्यमंत्री

नई दिल्ली, 24 मई। उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव में भाजपा को एक भी सीट नहीं मिलने के बाद मुख्यमंत्री भुवन चंद खंडूडी के भाग्य का फैसला करने के लिए शुनिवार शाम पार्टी के संसदीय बोर्ड की एक अहम बैठक बुलाई गई है लेकिन खंडूरी को अभयदान मिल चुका है। वे अभी मुख्यमंत्री पद पर बने रहेंगे।

भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने राज्य के विधायकों और अन्य नेताओं का मन टटोलने के लिए जो दो सदस्यीय पर्यवेक्षक दल देहरादून भेजा था उसने विचार-विमर्श का कार्य पूरा कर लिया है। पर्यवेक्षक के रूप में भेजे गए पार्टी उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी और संसदीय बोर्ड के सदस्य थावर चंद गहलोत शनिवार को पार्टी अध्यक्ष को अपनी रिपोर्ट सौंप देंगे। सूत्रों के अनुसार पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक में खंडूडी के मुख्यमंत्री बने रहने या नहीं रहने के बारे में अंतिम फैसला लिया जा सकता है।

दिल्ली में होने वाली बैठक में उनके उत्तराधिकारी के नाम पर भी चर्चा होने की संभावना है। माना जा रहा है कि खडूडी को हटाए जाने की स्थिति में भगत सिंह कोश्यारी, रमेश पोखरियाल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रकाश पंत तथा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बच्ची सिंह रावत के नामों पर चर्चा चल रही है।

लोकसभा चुनाव में भाजपा राज्य की पांचों लोकसभा सीट कांगे्रस से हार गई थी और आगामी 28 मई को कपकोट विधानसभा उप चुनाव होने वाले हैं और भाजपा इस उपचुनाव को गंभीरता से ले रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:HH