DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदली-बदली सी नजर आती है साड़ी

बदली-बदली सी नजर आती है साड़ी

साड़ी अब अल्ट्रा-मॉडर्न हो गई है। कांजीवरम  शिफॉन से जा मिली है। इंडियन को वेस्टर्न से मिलाकर साड़ी का एक नया ही रूप हमारे सामने आ चुका है। साड़ी को फिर से लोकप्रिय बनाने के लिए अब उसके साथ कई खास प्रयोग किए जा रहे हैं।

पारंपरिक चीजें धीरे-धीरे हमारी जिंदगी से गायब होती जा रही हैं। साड़ी भी उनमें से एक है। समय की कमी, सहूलियत की कमी और न जाने कितने ऐसे ही बहानों की वजह से साड़ियां धीरे-धीरे युवा भारतीय महिलाओं के लिए भी किसी खास मौके पर पहना जाने वाला परिधान मात्र बनकर रह गयी हैं। शायद यही वजह है
कि साड़ी को फिर लोकप्रिय बनाने और इस खूबसूरत परिधान में जान डालने के लिए
तरह-तरह की मुहिम शुरू हो चुकी है। फेसबुक पर साल भर में 100 दिन साड़ी पहनने की एक मुहिम काफी लोकप्रिय हो रही है। इस मुहिम के तहत दैनिक जीवन में भी साड़ी पहनने को बढ़ावा दिया जा रहा है। फेसबुक पर 1002ं1ीस्रूं3 के हैशटैग से यह मुहिम चल रही है। महिलाएं साड़ी पहनकर इस हैशटैग के साथ अपनी फोटो शेयर कर रही हैं और अपनी उस साड़ी से जुड़ी कहानी भी साझा कर रही हैं।
साड़ी को लोकप्रिय बनाने के लिए उसे पहनने के तरीके से लेकर फैब्रिक के मामले में भी कई प्रयोग हो रहे हैं। दुनियाभर में साड़ी पहनने के 80 से भी ज्यादा तरीके हैं। जानी-मानी फैशन डिजाइनर शायना एनसी मानती हैं कि वो खुद 54 तरीकों से साड़ी बांध सकती हैं। फैशन की दुनिया में तकरीबन रोज ही साड़ी को लेकर नए प्रयोग हो रहे हैं। ये प्रयोग पारंपरिक लुक के साथ साड़ी पहननेवाले को मॉडर्न टच देते हैं। प्रयोग और भी हुए हैं,आइए नजर डालें-
हाथ से बनी साड़ियों में शिफॉन टच
पारंपरिक हाथ की बनी साड़ियां हमेशा से अपने रिच लुक के लिए पसंद की जाती हैं। कांजीवरम हो या बनारसी, कई दिनों की मेहनत के बाद बनने वाली इन साड़ियों को फैशन के इस अल्ट्रामॉडर्न दौर में नया टच दिया जा रहा है। कई इंटरनेशनल फैशन ईवेंट्स का हिस्सा रह चुकीं फैशन डिजाइन काउंसिल ऑफ इंडिया की सदस्य फैशन डिजाइनर शालिनी आहूजा बताती हैं, ‘इस वक्त हाथ से बनी साड़ियों को शिफॉन और नेट जैसे मैटीरियल के साथ मिलाया जा रहा है। कांजीवरम की साड़ी में प्लेट्स और पल्लू नेट का बनाया जा रहा है या बनारसी साड़ी में सिर्फ प्लेट्स वाला हिस्सा शिफॉन का बनाया जा रहा है।’
गाउन वाली साड़ी बनाएगी अल्ट्रा मॉडर्न
साड़ी को गाउन की तरह पहनने से काम चल जाए तो कैसा रहेगा? साड़ी के इस स्टाइल को कहते हैं, गाउन साड़ी। शालिनी बताती हैं, ‘गाउन साड़ी मतलब साड़ी के फैब्रिक का ही बना गाउन व साथ में पल्लू। इसको इजी टू वियर साड़ी भी कह सकते हैं। इसमें कुछ एक्सेसरीज जैसे ब्रोच का इस्तेमाल काफी फबता है। साथ ही साधारण साड़ी की तरह इसके साथ भारी-भरकम ज्वेलरी नहीं फबती।’ गाउन साड़ी पार्टी या खास मौकों पर ही फबती है, इसलिए हमेशा ऐसे फैब्रिक में गाउन साड़ी खरीदें, जो फ्लो करे। कॉटन यह काम नहीं कर सकता, इसलिए गाउन साड़ी के  लिए साटन, सिल्क व क्रेप जैसे फैब्रिक ही सूट करते हैं। इनमें पल्लू के लिए शिफॉन व नेट का कॉम्बिनेशन किया जा सकता है। शालिनी कहती हैं, ‘खूबसूरत पल्लू वाली फुल आर्म गाउन साड़ी भी बेहतरीन लुक देती है।’
रिच लुक वाली लहंगा साड़ी
लहंगा साड़ी पिछले कुछ सालों में काफी लोकप्रिय हो गई है। पर इसको हैवी और रिच लुक में ही ज्यादा पसंद किया जाता है। चूंकि गर्मी का मौसम है, इसलिए हल्के पर स्टाइलिश फैब्रिक का इस्तेमाल इसमें किया जा सकता है। शालिनी बताती हैं, ‘लहंगा साड़ी के लिए आप हल्का पीला या फिर हल्का नीला जैसे रंगों को चुन सकती हैं। लहंगा साड़ी पर तीन रंगों वाला बॉर्डर और व्हाइट या ऑफ व्हाइट बेस बेहद खूबसूरत लगता है। तीन रंगों में पिंक, ग्रीन और ब्लू जैसे रंग चुने जा सकते हैं।’
पुराने अंदाज में नए का तड़का
पारंपरिक तरीके से पहनी जाने वाली साड़ी को भी पल्लू को अलग-अलग तरीके से प्रयोग कर नया लुक दिया जा सकता है। पल्लू को गले से राउंड करके डालकर या फिर उसे स्कार्फ की तरह पहनने से आपकी साधारण साड़ी को भी अलग लुक मिल जाएगा। आप लेस वाली साड़ी पहनकर भी आकर्षक लुक पा सकती हैं।
पेस्टल कलर हैं सीजन का ट्रेंड
इस सीजन के ट्रेंडी रंगों की बात करें तो सभी पेस्टल कलर इस बार गर्मी में आपको स्टाइलिश दिखाने के लिए तैयार हैं। पेस्टल कलर में भी कुछ खास रंगों का चुनाव करेंगी तो आप ज्यादा फैशनेबल दिख सकती हैं। हल्का पीला, हल्का गुलाबी, इंग्लिश पिंक, सादा नीला और हरा जैसे रंग लोकप्रिय हैं।


जैसी बॉडी, वैसी साड़ी
पियर शेप: पियर शेप यानी जिन महिलाओं के शरीर का निचला हिस्सा ज्यादा भारी होता है। ऐसी महिलाओं को शिफॉन और जॉर्जेट फैब्रिक की साड़ी पहननी चाहिए। सीधे पल्लू के साथ बोल्ड-ब्राइट रंग की साड़ियां ही पहनें।
एप्पल शेप- पेट और बैक एप्पल शेप में भारी होता है। ऐसे में महिलाओं को कसीदाकरी वाली साड़ियों का चुनाव नहीं करना चाहिए। थोड़े लंबे ब्लाउज पहनें और साथ ही साड़ी थोड़ी ऊंची बांधिए। नेट वाली साड़ी से दूर रहिए।
ओवर वेट- भारी महिलाओं को कॉटन और दूसरे कड़क फैब्रिक्स से हमेशा दूर ही रहना चाहिए। शिफॉन या सिल्क साड़ी ही ऐसे बॉडी शेप पर सही रहती है। हैंडलूम साड़ी भी आप पर अच्छी दिखेगी।
स्लिम फिगर- अगर आप दुबली-पतली हैं तो कॉटन, सिल्क, ऑरगेंजा साड़ियां आप पर बेहतरीन दिखेंगी। हल्के रंग और भारी साड़ी के साथ बड़े प्रिंट, ब्रोकेड वर्क आप पर खूब जंचेगा। बैकलेस, स्लीवलेस, हॉल्टर नेट और टय़ूब ब्लाउज आपके लिए ठीक रहेंगे।
अगर लंबाई है ज्यादा- लंबी महिलाओं पर भारी बॉर्डर की साड़ियां अच्छी दिखेंगी। तरह-तरह के रंगों में बड़े और बोल्ड प्रिंट आप पर अच्छे
लगेंगे। इस तरह से आपकी लंबाई पर से दूसरों का ध्यान हटेगा।
पतली-दुबली, छोटा कद- कम लंबाई और दुबली महिलाओं को बड़े प्रिंट और भारी बॉर्डर वाली साड़ी का चुनाव नहीं करना चाहिए। पतले बॉर्डर वाली साड़ी आपको लंबा दिखाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Changed - changed finds sari