DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को बांग्लादेश का जवाब, कहा- भारत ने मुक्ति संग्राम में हस्तक्षेप नहीं, समर्थन किया था

पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को बांग्लादेश का जवाब, कहा- भारत ने मुक्ति संग्राम में हस्तक्षेप नहीं, समर्थन किया था

दशकों तक पाकिस्तान से पीडित रहे बांग्लादेश ने खुल कर भारत के स्टैंड और प्रधाननमंत्री नरेंद्र मोदी के बयानों का स्वागत किया। बांग्लादेश के सूचना एंव प्रसारण मंत्री ने कहा है कि बांग्लादेश की स्वतंत्रता की लडाई में भारत ने हस्तक्षेप नहीं किया, बल्कि उसके प्रयासों का समर्थन किया था।

बांग्लादेश ने 1971 के मुक्ति संघर्ष के दौरान भारत की भूमिका का खुल कर समर्थन किया और इस संबंध में पाकिस्तान के बयान की कठोर शब्दों में आलोचना की। बांग्लादेश के सूचना एवं प्रसारण मंत्री हसन उल हक इनु ने भारत के सरकारी रेडियो आकाशवाणी से बातचीत में कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस संकट के दौरान भारत की भूमिका की व्याख्या की है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने बांग्लादेश के प्रयासों का समर्थन किया था और इसे किसी भी तरह से भारत का हस्तक्षेप नहीं माना जा सकता।

भारतीय नेताओं के बयान से बिगड सकता है माहौल: नवाज शरीफ
वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान ने भारत के नेताओं के बयानों को गैर जिम्मेदाराना बताया है। वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि हर कीमत पर देश के अहम हितों का समर्थन किया जायेगा।
शरीफ ने पाकिस्तानी राजदूतों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए गुरुवार को कहा था कि भारतीय राजनेताओं के अविवेकपूर्ण बयानों से वे निराश हैं। उन्होंने इसे माहौल बिगाडने वाला बताया था। उन्होंने कहा था कि हम उकसावे की वजह से अपने नैतिक आधार को नहीं छोडेंगे।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री इशाक डार ने गुरुवार को नेशनल असेंबली के अपने भाषण में कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1971 के युद्ध में पाकिस्तान को तोडने में भारत की भूमिका को खुले तौर पर स्वीकार किया। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ से भी इस पर गौर करने की अपील की। उन्होंने जम्मू कश्मीर का पुराना राग अलापते हुए कहा था कि इतिहास को हाशिये पर नहीं डाला जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bangladesh said India would not interfere in the liberation struggle