अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना से अगवा सत्यम की हत्या, तोड़फोड़

पटना से अगवा सत्यम की हत्या, तोड़फोड़
पटना के कंकड़बाग इलाके से अगवा किए गए स्थानीय व्यवसायी राजेश कुमार के नौ वर्षीय पुत्र सत्यम कुमार का शव शुक्रवार देर रात बरामद किया गया। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।
 
पटना सदर के पुलिस उपाधीक्षक पंका कुमार ने शनिवार को बताया कि सत्यम का शव पुलिस ने पड़ोस के ही एक घर से बरामद किया। उन्होंने बताया कि इस मामले में सत्यम के पड़ोस में रहने वाले सोनू और एक दुकानदार अविनाश को गिरफ्तार किया गया है।
 
कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों से पूछताछ की ा रही है। वैसे उन्होंने कहा कि मामले का मास्टरमाइंड अभी भी फरार है। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को कंकड़बाग से अपहरणकर्ताओं ने व्यवसायी राजेश कुमार के नौ वर्षीय पुत्र सत्यम का अपहरण उस समय कर लिया गया था जब वह अपने घर के बाहर खेल रहा था। अपहरणकर्ताओं ने सत्यम की रिहाई के एवा में 50 लाख रुपये की मांग की थी। सत्यम पटना स्थित दून एकेडमी स्कूल में कक्षा चार का छात्र था।
 
सत्यम की हत्या से गुस्साए लोगों ने इलाके में जमकर तोड़फोड़ की और मामले के एक आरोपी के दुकान को आग लगा दी। इस सिलसिले में कंकड़बाग के थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार लोगों ने कंकड़बाग की सभी सड़कों को दो घंटे तक जाम रखा। इस दौरान सत्यम के अपहरण एवं हत्या के आरोपी अविनाश की कंकड़बाग स्थित दुकान का सारा सामान बाहर निकालकर फूंक दिया गया।
 
पटना के नगर पुलिस अधीक्षक अनवर हुसैन ने बताया कि कंकड़बाग में स्थिति अब पूरी तरह नियंत्रण में है। कंकड़बाग के थाना प्रभारी गिरधर पांडेय को जांच में शिथिलता बरतने के मामले में निलंबित कर दिया गया है तथा मामले की जांच की जा रही है। इधर, कंकड़बाग के लोग थाना प्रभारी पर मामले में शिथिलता बरतने तथा हत्या में संलिप्तता का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ प्राथमिकी र्दा करने की मांग कर रहे हैं।
 
पटना के कंकड़बाग इलाके से गुरुवार को अगवा किए गए सत्यम का शव शुक्रवार देर रात बरामद किया गया था। उसके पिता राजेश कुमार व्यवसायी हैं। पटना सदर के पुलिस उपाधीक्षक पंका कुमार ने शनिवार को बताया कि सत्यम का शव पुलिस ने पड़ोस के ही एक घर से बरामद किया। उन्होंने बताया कि पड़ोस में रहने वाले सोनू और एक दुकानदार अविनाश को गिरफ्तार किया गया है।
 

उल्लेखनीय है कि अपहरणकर्ताओं ने सत्यम का अपहरण उस समय किया था जब वह अपने घर के बाहर खेल रहा था। अपहरणकर्ताओं ने सत्यम को मुक्त करने की एवज में 50 लाख रुपये की मांग की थी। सत्यम पटना स्थित दून एकेडमी स्कूल में कक्षा चार का छात्र था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पटना, बिहार, नीतीश कुमार, अपहरण