DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सशक्त पड़ोसी की भूमिका निभाए भारत: बांग्लादेशी मीडिया

सशक्त पड़ोसी की भूमिका निभाए भारत: बांग्लादेशी मीडिया
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन के लगातार दूसरी बार विजयी होने पर उन्हें बधाई देते हुए बांग्लादेश के मीडिया के एक वर्ग ने कहा है कि यह दक्षिणीएशिया में सकारात्मक संबंधों के विकास के लिए अच्छा संकेत है।
 
वामपंथी झुकाव वाले समाचार पत्र "न्यूएज" ने अपने संपादकीय में   सलाह दी   है कि इसके लिए भारत को क्षेत्रीय दादा की नहीं बल्कि सशक्त पड़ोसी की भूमिका निभानी होगी। यदि ऐसा हुआ तो भारत और बांग्लादेश के बीच रिश्ते सुधरेंगे, क्योंकि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और मनमोहन सिंह का कार्यकाल करीब-करीब बराबर चलेगा।
 
समाचार पत्र ‘डेली स्टार’ ने लिखा है कि भारत में कांग्रेस और बांग्लादेश में अवामी लीग दोनों को जनादेश मिला है और करीबी रिश्ते और ऐतिहासिक संबंध है।
 
पत्र के अनुसार दक्षिण एशिया का प्रभावशाली देश होने के नाते दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) जैसे संगठनों के माध्यम से भारत निश्चित तौर पर क्षेत्रीय संबंधों के विकास में अहम भूमिका निभा सकता है। द्विपक्षीय आधार पर और दुनिया भर में आ रहे बदलावों के मद्देनार भारत अपने और पड़ोसियों के बीच के मसले सुलझने में अग्रणी भूमिका निभा सकता है।
 
अखबार के अनुसार उन मसलों के समाधान के आधार पर ही भारत और अन्य देशों के बीच संबंध प्रगाढ़ हो सकते हैं। पत्र के अनुसार भारत की ओर से दिखाई गई उदारता पड़ोसियों से संबंध सुधारने में निश्चित रूप से योगदान दे सकती है और जहां तक भारत एवं बांग्लादेश के संबंधों का प्रश्न है दोनों देशों को कुछ अहम मसलों पर ध्यान देना होगा।
 

पत्र में भारतीय मतदाताओं द्वारा हिंदुत्ववादी ताकतों को नकारने का संज्ञान लिया गया है। उसने लिखा है कि हम सिर्फ उम्मीद कर सकते हैं कि भारतीय विदेश नीति में सांप्रदायिक सुलह और एकता की झलक होगी जिससे  पूरे दक्षिण एशिया में स्थायित्व और आर्थिक विकास में योगदान मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एजेंसी