DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजेंदर ने लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया

विजेंदर सिंह (75 किग्रा) रविवार को कजाखस्तान के अस्ताना में एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर के सेमीफाइनल में पहुंचकर लगातार तीसरी बार ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाले भारत के पहले मुक्केबाज बन गए।
    
ओलंपिक और विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक से इन दोनों प्रतियोगिताओं में पदक जीतने वाले पहले भारतीय विजेंदर ने मंगोलिया के चुलुनटुमुर तुमुरखुयाग को 27-17 से हराकर सिर्फ ओलंपिक का टिकट ही हासिल नहीं किया बल्कि इस टूर्नामेंट का पदक भी पक्का किया।
    
विजेंदर ने अस्ताना में जीत दर्ज करने के बाद कहा कि मैं वापस आ गया हूं। यह 26 वर्षीय पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने के पहले प्रयास में असफल रहा था। दुनिया के पूर्व नंबर एक मुक्केबाज ने कहा कि मैंने अपने सारे आलोचकों को जवाब दे दिया है जो विश्व चैम्पियनशिप के पहले राउंड में मेरे हारने के बाद कह रहे थे कि मेरा बोरिया बिस्तर बंध चुका है।
    
वर्ष 2008 के बीजिंग ओलंपिक से पहले विजेंदर ने एशियाई क्वालीफायर में स्वर्ण पदक जीता था जो कजाखस्तान में ही हुआ था।
 
उन्होंने कहा कि अब मैं सब कुछ ओलंपिक को देकर साबित कर दूंगा कि मैं सर्वश्रेष्ठ हूं। क्वालीफाई करने के बाद काफी राहत महसूस हो रही है। ओलंपिक में लगातार तीसरी बार क्वालीफाई करने वाला पहला मुक्केबाज बनने का अहसास विशेष है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विजेंदर ने लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया