DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतिम चरण के मतदान की तैयारी पूरी

उत्तर प्रदेश में 16वीं विधान सभा के सातवें एवं अंतिम चरण में शनिवार को तराई और रुहेलखंड इलाके के दस जिलों की 60 सीटों पर होने वाले मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इन क्षेत्रों में पिछले दो महीने से जोर शोर से चल रहे चुनाव प्रचार अभियान के साथ प्रत्याशियों द्वारा रुठों को मनाने और अपनों को सुबह जल्दी से जल्दी मतदान केन्द्र पहुंचकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की याद दिलाने के लिए किए जा रहे जनसंपर्क पर कल शाम पांच बजे विराम लग गया।
 
अधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि अंतिम चरण के मतदान के लिए पोलिंग पार्टियां मतदान केन्द्रों पर पहुंच गई हैं। मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सुरक्षा के व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं। नेपाल तथा उत्तराखंड से सटी सीमा सील कर दी गई है। अंतिम चरण के मतदान के लिए 18 हजार 957 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। मतदाताओं की सुविधा के लिए 27 हजार 500 से ज्यादा इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों का इस्तेमाल होगा।
 
राज्य के 343 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान संपन्न हो चुका है। सातवें चरण में कल सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। विधान सभा के बरेली मंडल के शाहजहांपुर, बरेली, बदायूं एवं पीलीभीत जिलों और मुरादाबाद मंडल के बिजनौर, भीमनगर, मुरादाबाद, रामपुर और जेपी नगर जिलों के तहत आने वाली 26-26 सीटों के अलावा लखनऊ मंडल के लखीमपुर खीरी जिले की आठ सीटों पर कल मतदान होगा।
 
अंतिम चरण के चुनाव में सपा महासचिव आजम खान, रामपुर, राज्य विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष राजेश अग्रवाल, बरेली कैंट, राष्ट्रीय परिवर्तन दल (रापद) अध्यक्ष डी.पी. यादव, (सहसवान) सपा के राष्ट्रीय सचिव अताउर्रहमान (बरेली) बरेली की महापौर सुप्रिया ऐरन (बरेली कैन्ट) और तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर मैदान में उतरे किसान नेता वीएम सिंह पालिया की प्रतिष्ठा दांव पर है।
 
इनके अलावा सुश्री ओमवती (नगीना) भगवान सिंह शाक्य, उसहैत, माया प्रसाद, लखीमपुर, बंशीधर राज, कस्ता, अनीस अहमद उर्फ फूलबाबू, बीसलपुर, रामसरन वर्मा, बीसलपुर, नवाब काजिम अली, स्वार, धर्मपाल सिंह, आंवला, धर्मेन्द्र कश्यप, बिथरी, शहजिल इस्लाम (भोजीपुरा) बहोरनलाल मौर्य (भोजीपुरा) और ओमवेश (चांदपुर) समेत
राज्य के अनेक पूर्व मंत्रियों के निर्वाचन क्षेत्रों में भी कल मतदान होगा। केन्द्रीय मंत्री जितिन प्रसाद, लखीमपुर पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी, आंवला तथा उनके सांसद पुत्र वरुण गांधी, पीलीभीत और पूर्व क्रिकेट स्टार मो. अजहरुद्दीन (मुरादाबाद) के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र भी इसी इलाके में हैं लिहाजा इस चरण के चुनाव के साथ उनकी भी प्रतिष्ठा जुडी हुई है।
 
दस जिलों की इन 60 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए एक करोड़ 80 लाख से ज्यादा मतदाता वोट डालेंगे। इन क्षेत्रों से 962 उम्मीदवार मैदान में हैं जिनमें सौ महिला प्रत्याशी शामिल हैं।
 
नए परिसीमन से पहले 2007 में हुए राज्य विधानसभा के पिछले चुनाव के दौरान बरेली मंडल के तहत आने वाले बदायूं, शाहजहांपुर, बरेली और पीलीभीत तथा मुरादाबाद मंडल के तहत आने वाले रामपुर, मुरादाबाद, जेपीनगर और बिजनौर जिले और लखनऊ मंडल के लखीमपुर खीरी समेत नौ जिलों में राज्य विधानसभा की 57 सीटें थीं। पिछले साल गठित भीमनगर जिले में विधानसभा की तीन सीटें शामिल हैं।
 
विधानसभा के पिछले चुनाव में इन नौ जिलों में से मुरादबाद मंडल के बिजनौर जिले के तहत आने वाली सभी सात सीटों में बसपा ने जीत हासिल की थी। रालोद को इन नौ जिलों में एक भी सीट नहीं मिली थी।
 
पिछले विधानसभा चुनाव में 57 सीटों में बसपा को 27, सपा को 17 भाजपा को 09 राष्ट्रीय परिवर्तन दल को दो तथा कांग्रेस तथा अन्य को एक एक सीट मिली थी। नए परसीमन के बाद हो रहे 16वीं विधानसभा के चुनाव में मुरादाबाद मंडल के नवगठित भीमनगर जिले के तहत आने वाली तीन सीटों के शामिल हो जाने से इन सीटों की संख्या बढ़कर साठ हो गई है।
 
इन सीटों पर पहले राज्य विधानसभा चुनाव के पहले चरण में चार फरवरी को मतदान होना था पर पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन ईद मिला दुल्न्नबी पर्व के मद्देनजर चुनाव आयोग द्वारा बाद में इन दस जिलों के तहत आने वाले क्षेत्रों में पहले चरण में चार फरवरी के बजाय अंतिम चरण में तीन मार्च को मतदान कराने का ऐलान किया गया था।

अंतिम चरण में कल नजीबाबाद, नगीना (सु) बढापुर, थामपुर, नहटौर, बिजनौर, चांदपुर, नूरपुर, कांठ, ठाकुरद्वारा, मुरादाबाद देहात, मुरादाबाद शहर, कुंदरकी, बिलारी, चंदौसी (सु) असमोली, स्वारटांडा, चमरउआ, बिलासपुर, रामपुर, मिलक (सु) धनौरा (सु), संभल, नौगवां, सादात, अमरोहा, हसनपुर, गुन्नौर, बिसौली, सहसवान, बिल्सी, बदायूं, शेखूपुर, दातागंज, मीरगंज, भोजीपुरा, बहेडी, नवाबगंज, फरीदपुर, बिथरी चैनपुर, बेरली शहर, आंवला, बरेली कैन्ट, पीलीभीत, बरखेडा, बीसलपुर, पूरनपुर (सु) कटरा, जलालाबाद, पुवांया (सु) तिलहर, शाहजहांपुर, ददरौल, पलिया, निघासन, गोला गोकर्णनाथ, श्रीनगर (सु) धौरहरा, लखीमपुर, कस्ता (सु) और मोहम्मदी समेत 60 सीटों पर मतदान होगा। मतगणनाछह मार्च को होगी।
 
स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिए अर्धसैनिक बल और पीएसी की 772 कंपनी के अलावा राज्य पुलिस, होमगार्ड और ग्राम सुरक्षा बल के डेढ़ लाख जवान लगाए गए हैं।

 कानून व्यवस्था के देखभाल की जिम्मेवारी दो सौ राजपत्रित अधिकारियों को सौंपी गई है। आकाश से निगरानी के लिए दो हेलीकाप्टर भी लगाए गए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां कहा कि सबसे ज्यादा अर्ध्रसैनिक बलों को बरेली में लगाया गया है जहां अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों की संख्या ज्यादा है। बरेली में अर्धसैनिक बल की 93. पीएसी की 19, पांच सौ दारोगा, 158 हवलदार और 4820 सिपाहियों को लगाया गया है। बदायूं में अर्धसैनिक बल और पीएसी की 88 कंपनी भेजी जा रही है। इलाके में 330 दारोगा और 2800 सिपाही तैनात किए जा रहे हैं।
शाहजहांपुर में 99 कंपनी अर्धसैनिक बल और पीएसी होगी। इसके अलावा 275 दारोगा और 4225 सिपाहियों को भी तैनात किया जा रहा है।
 
बिजनौर में अर्धसैनिक बल की 40 और पीएसी की सात कंपनी रहेगी। इसके अलावा 545 दारोगा, 165 हवलदार और तीन हजार एक सौ सिपाही तैनात रहेंगे। ज्योतिबा फूलेनगर में अर्धसैनिक बल की 45 तथा पीएसी की आठ कंपनी तैनात की जाएगी। दो सौ दस दारोगा और 2290 सिपाही भी तैनात रहेंगे। लखीमपुर खीरी में अर्धसैनिक बल की 86 और पीएसी की आठ कंपनी भेजी जाएगी। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में दारोगा, हवलदार तथा सिपाही तैनात रहेंगे।
 
मुरादाबाद में पीएसी की पन्द्रह तथा अर्धसैनिक बल की 49 कंपनियां भेजी जा रही हैं। सिख आतंकवाद के लिए बदनाम हुए पीलीभीत में अर्धसैनिक बल की 49 और पीएसी की छह कंपनी तैनात की जाएगी। जिले में 2215 सिपाहियों और 165 दारोगा को तैनात किया जाएगा। रामपुर में अर्धसैनिक बल की 59 और भीमनगर में 39 कंपनी तैनात रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतिम चरण के मतदान की तैयारी पूरी