DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में कांग्रेस ने खुला रखा है गठबंधन का विकल्प

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बहुमत न मिलने पर कांग्रेस ने भले ही विपक्ष में बैठने का ऐलान किया हो, पर पार्टी गठबंधन की संभावनाओं को खारिज भी नहीं कर रही है। केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने बसपा को तरजीह देने का ऐलान कर इसके संकेत भी दे दिए हैं। पार्टी रणनीतिकारों के मुताबिक, गठबंधन के बारे में कोई भी औपचारिक राय चुनाव नतीजों के बाद ही बनाएगी। भविष्य की रणनीति तय करने के लिए बुधवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हो सकती है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यूपी में गठबंधन पर अंतिम फैसला चुनाव नतीजों के बाद ही किया जाएगा। पार्टी का रूख इस बात पर निर्भर करेगा कि किस पार्टी को कितनी सीट मिलती हैं। कांग्रेस के पास क्या विकल्प हैं और वह किस पार्टी के साथ गठबंधन कर अपनी योजनाओं को बेहतर तरीके से लोगों तक पहुंचा सके। यूपी के कार्यकर्ता भी पार्टी पर संभावित गठबंधन सरकार में शामिल होने का दबाव बना रहे हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा के बसपा अध्यक्ष मायावती से अच्छे रिश्ते रहे हैं। जरुरत पड़ने पर मोती लाल वोरा इस बारे में मुख्यमंत्री मायावती से बात कर सकते हैं। यूपी के राज्यपाल के तौर पर गेस्ट हाऊस कांड में उन्होंने बसपा अध्यक्ष की काफी मदद की थी। सियासी हलकों में यह माना जाता है कि मुख्यमंत्री मायावती उनकी बहुत इज्जत करती हैं।
--

‘कांग्रेस ने अभी तक यही कहा है कि बहुमत मिला तो हम सरकार बनाएगें अन्यथा विपक्ष में बैठेंगे। लोकतांत्रिक भावना भी यही है। पार्टी ने अभी तक कोई दूसरा निर्णय नहीं लिया है। चुनाव परिणाम आने दीजिए उसके बाद पार्टी फैसला लेगी।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में कांग्रेस ने खुला रखा है गठबंधन का विकल्प