DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निकाय चुनाव से बसपा ने किया किनारा, जिला कमेटियां भंग

विधानसभा चुनाव में बुरी तरह मात खाने के बाद बसपा मुखिया ने रविवार को लखनऊ में पार्टी के पदाधिकारियों संग बैठक की तो कई निर्णय भी ले डाले। प्रदेश की सभी जिला कमेटियां भंग कर डाली तो कई जोनल कोआर्डिनेटरों के कार्यक्षेत्र में भी फेरबदल किया।

बड़े नेताओं पर किए भरोसे को तोड़ते हुए उन्होंने अब खुद जोनल कोआर्डिनेटरों से सीधे संपर्क में रहने का फैसला लिया है। एक अहम निर्णय लेते हुए उन्होंने नगर निकाय चुनाव से बसपाइयों को दूर रहने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि अपनी सारी ताकत एकजुट कर 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव में लगाएं।

रविवार को लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय में प्रदेश के सभी जोनल कोआर्डिनेटर, जिलाध्यक्ष एवं जिला प्रभारियों सहित भाईचारा कमेटियों के पदाधिकारियों की बैठक हुई। करीब तीन घण्टे तक चली बैठक में मायावती ने विधानसभा चुनाव में मिली पराजय से सबक लेने की सलाह देते हुए कहा कि भाजपा और कांग्रेस का वोट प्रतिशत न बढ़ना हार का प्रमुख कारण है। उन्होंने कहा कि हालांकि तीन-चार प्रतिशत बसपा का भी वोट कम हुआ लेकिन इसके लिए कार्यकर्ता नहीं बल्कि कुछ भरोसेमंद नेता और पदाधिकारी जिम्मेदार हैं।
 
प्रदेश की सभी जिला कमेटियां भंग करते हुए उन्होंने कहा कि पूर्वी यूपी की कमान राज्यसभा सांसद जुगुल किशोर ही संभालेंगे। कुछ और लोग भी उनके साथ लगाए जाएंगे। बस्ती मण्डल के जोनल कोआर्डिनेटर उदयभान को गोरखपुर मण्डल के जोनल कोआर्डिनेटर सुधीर कुमार के साथ लगाते हुए श्रवण कुमार निराला को बस्ती मण्डल का कोआर्डिनेटर बनाया है। श्री निराला इसके पहले जिला प्रभारी थे। सूत्रों के मुताबिक नव निर्वाचित विधायकों के साथ मायावती सोमवार को बैठक करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निकाय चुनाव से बसपा ने किया किनारा, जिला कमेटियां भंग