DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी की 16वीं विस में 47 प्रतिशत विधायकों पर आपराधिक मुकदमें

उत्तर प्रदेश की 16वीं विधानसभा के लिये चुने गये 403 विधायकों में से करीब 47 प्रतिशत पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

एडीआर के उत्तर प्रदेश इकाई समन्वयक उत्कर्ष कुमार सिन्हा ने प्रेस कांफ्रेंस में इस आशय की रिपोर्ट जारी की। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट के मुताबिक हाल में सम्पन्न राज्य विधानसभा चुनाव में चुने गये 403 विधायकों में से 189 यानी 47 प्रतिशत ने चुनाव पूर्व दाखिल नामांकन पत्र में अपने खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज होने का उल्लेख किया है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2007 में चुने गये पिछली विधानसभा के 403 विधायकों में से 140, (35 प्रतिशत) के खिलाफ मुकदमे दर्ज थे।

सिन्हा ने बताया कि 16वीं विधानसभा के लिये चुने गये विधायकों में से 98 (करीब 24 प्रतिशत) के खिलाफ हत्या तथा कत्ल की कोशिश जैसे गम्भीर मामलों के मुकदमे विचाराधीन हैं, जबकि वर्ष 2007 की विधानसभा में ऐसे 78 विधायक थे।

उन्होंने बताया कि जघन्य मामलों में आरोपी शीर्ष तीन विधायकों की बात करें तो हत्या के 14 मामलों समेत सबसे ज्यादा 36 मुकदमें बीकापुर से सपा विधायक चुने गये मित्रसेन के खिलाफ दर्ज किये गये हैं। उनके बाद इस सूची में सकलडीहा से निर्दलीय विधायक सुशील सिंह, हत्या के 12 मामलों समेत 20 मुकदमे तथा जसराना से सपा विधायक रामवीर सिंह (हत्या के आठ मामलों समेत 18 मुकदमे) का नाम आता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:16वीं विस में 47 प्रतिशत विधायकों पर आपराधिक मुकदमें