DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5745 प्रत्याशियों की हुई जमानत जब्त

 इस बार का विधानसभा चुनाव लड़ने वाले 6839 प्रत्याशियों में से 5745 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गयी है। इस तरह करीब पांच करोड़ रुपए की राजस्व आय हुई है। सामान्य प्रत्याशी की जमानत राशि दस हजार और अनुसूचित जाति के प्रत्याशी की जमानत राशि पांच हजार रूपए होती है। किसी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुल पड़े वोट के छठवें हिस्से से कम वोट पाने वाले प्रत्याशी की जमानत राशि जब्त होने का प्रावधान है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में चुनाव हारने वाले 691 उम्मीदवार ही अपनी जमानत बचा पाए। यही नहीं, इस चुनाव में एक भी वोट अवैध नहीं हुआ। प्रदेश के 12 करोड़ 74 लाख 38 हजार 342 मतदाताओं में से सात करोड़ 58 लाख 29 हजार 264 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सबसे अधिक एक लाख 33 हजार 563 वोट जसवन्तनगर सीट से समाजवादी पार्टी के शिवपाल सिंह यादव को मिले जबकि कुण्डा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय रघुराज प्रताप सिंह ने बसपा के शिव प्रकाश मिश्र सेनानी को सर्वाधिक 88 हजार 255 वोटों के अन्तर से  पराजित किया। जीत का सबसे कम अन्त बहेड़ी सीट पर रहा जहां सपा के अताउर्रहमान ने भाजपा के चन्द्र पाल सिंह को केवल 18 वोटों से हराया। इस बार 582 महिला प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा जिनमें से 35 महिलाएं चुनाव  जीतीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5745 प्रत्याशियों की हुई जमानत जब्त