DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतिम चरण में मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा

उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए राज्य के रूहेलखंड इलाके की साठ सीटों पर आगामी तीन मार्च को होने वाले मतदान के लिए राज्य सरकार ने सुरक्षा के कडे इन्तजाम किए हैं।
 
राज्य के दस जिलों में अंतिम चरण में मतदान होना है। स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिए अर्ध सैनिक बल और पीएसी की 772 कंपनी के अलावा पुलिस, होमगार्ड और ग्राम सुरक्षा बल के डेढ़ लाख जवान तैनात किए गए हैं।
 कानून व्यवस्था की सिथति की देखभाल की जिम्मेदारी दो सौ राजपत्रित अधिकारियों को सौंपी गई है। आकाश से निगरानी के लिए दो हेलीकाप्टर भी लगाए गए हैं।
 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सबसे ज्यादा अर्ध्रसैनिक बलों को बरेली में लगाया गया है जहां अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों की संख्या ज्यादा है। बरेली में अर्धसैनिक बल की 93, पीएसी की 19, पांच सौ इंस्पेक्टर, 158 हवलदार और 4820 सिपाहियों को लगाया गया है।
 
बदायूं में अर्धसैनिक बल और पीएसी की 88 कंपनी भेजी जा रही हैं। इलाके में 330 दारोगा और 2800 सिपाही तैनात किए जा रहे हैं। शाहजहांपुर में 99 कंपनी अद्धसैनिक बल और पीएसी होगी। इसके अलावा 275 दारोगा और 4225 सिपाहियों को भी तैनात किया जा रहा है।
 
बिजनौर में अर्धसैनिक बल की 40 और पीएसी की सात कंपनी रहेंगी। इसके अलावा 545 इंस्पेक्टर, 165 हवलदार और तीन हजार एक सौ सिपाही तैनात रहेंगे। ज्योतिबा फूलेनगर में अर्धसैनिक बल की 45 तथा पीएसी की आठ कंपनी तैनात की जाएगी। दो सौ दस इंस्पेक्टर और 2290 सिपाही भी तैनात रहेंगे। लखीमपुर खीरी में अर्धसैनिक बल की 86 और पीएसी की आठ कंपनी भेजी जाएगी। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में इंस्पेक्टर. हवलदार तथा सिपाही तैनात रहेंगे।

मुरादाबाद में पीएसी की पन्द्रह तथा अर्धसैनिक बल की 49 कंपनियां भेजी जा रही हैं। सिख आतंकवाद के लिए बदनाम हुए पीलीभीत में अर्ध सैनिक बल की 49 और पीएसी की छह कंपनी तैनात की जायेंगी। जिले में 2215 सिपाहियों और 165 दारोगा को तैनात किया जाएगा। रामपुर में अर्धसैनिक बल की 59 और भीमनगर में 39 कंपनी तैनात रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतिम चरण में मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा