DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हीरो वाली भूमिका करना चाहते हैं तुषार

मल्टी स्टारर फिल्मों से सफलता का स्वाद चखने वाले फिल्म अभिनेता तुषार कपूर की दिली चाहत है कि वह सोलो हीरो वाली भूमिका अदा करे। उन्हें लगता है कि ऐसा करके वह अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर सकते हैं और स्टार बन सकते हैं।
   
एक साक्षात्कार में तुषार ने कहा कि मैं सोलो फिल्मों में काम करना चाहता हूं। अगर आप सोलो हिट नहीं देते हैं तो इस इंडस्ट्री में यह महत्व नहीं रखता है कि आप कितना लोकप्रिय हैं। यह स्टार होने का सबूत नहीं है। आपको इस इंड्रस्टी के लिए साबित करना है।
   
तुषार ने वर्ष 2001 में सतीश कौशिक द्वारा निर्देशित की गई फिल्म 'मुझे कुछ कहना है' से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरूआत की थी। इस फिल्म की सफलता के बाद तुषार की कोई दूसरी सोलो फिल्म कोई अधिक सफलता हासिल नहीं कर सकी। उनकी अगली फिल्म करीना कपूर के साथ वासु भगनानी की 'जीना सिर्फ मेरे लिए' (2002) आयी थी। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पिट गई।
   
इसके बाद तुषार ने अपनी बहन एकता कपूर की फिल्म 'कुछ तो है' में ईशा देओल के साथ काम किया जो असफल साबित हुई। वर्ष 2003 में तुषार की अनिता हसनंदानी के साथ आई फिल्म 'ये दिल' बॉक्स ऑफिस पर साल की सबसे असफल फिल्म साबित हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हीरो वाली भूमिका करना चाहते हैं तुषार