DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रहमान के साथ काम करना चाहती हैं टीना सानी

भारत को अपना दूसरा घर मानने वाली पाकिस्तान की गजल गायिका टीना सानी ने कहा है कि भविष्य में वह ऑस्कर पुरस्कार विजेता संगीतकार एआर रहमान के साथ काम करना चाहती हैं।
   
टीना ने बताया कि भारत के कई ऐसे कलाकार हैं जिनके साथ मैं काम करना चाहूंगी। लेकिन इनमें एआर रहमान प्रमुख हैं क्योंकि उनके गाने का तरीका मेरे जैसा ही है। उनका जोर माधुर्य पर रहता है।
   
उन्होंने बताया कि मैं 'रोजा' के समय से ही उनकी बहुत बड़ी प्रशंसक हूं। मैं नहीं जानती कि एक दिन में मैंने उनके गीत 'ख्वाजा मेरे ख्वाजा' (जोधा अकबर) को कितनी बार सुना है। वह जो भी करते हैं, दिल से करते हैं और यही वजह है कि वह हमेशा कुछ अनूठा करते हैं।
   
अपनी पुरकशिश आवाज में रूमी, गालिब और फैज की शायरी पेश करने वाली टीना ने हाल में राजधानी में आयोजित कार्यक्रम बज्म में अपनी प्रस्तुति दी थी।
    
1979 में अपने संगीत करियर का आगाज करने वाली टीना यह देख कर खुश हैं कि नयी पीढ़ी गजल और उर्दू शायरी में दिलचस्पी ले रही है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ साल में एक नया श्रोता समूह विकसित हुआ है और युवा पीढ़ी संगीत की बारिकियों को समझने में काफी दिलचस्पी ले रही है।
 
टीना ने बताया कि तीन दशक पहले जब उसने गायन में अपना करियर शुरू किया था उस समय पाकिस्तान में रॉक और पॉप संगीत का जादू छाने लगा था। कई लोगों ने उनसे खुद को बदलकर सूफी की जगह रॉक और पॉप गाने के लिए कहा था।
   
उन्होंने कहा कि मैं संगीत के जरिए खुद को खुदा से जोड़ती हूं। मैंने फैज और रूमी से प्रेरणा लेकर गायन क्षेत्र में कदम रखा था। उन्होंने कहा कि आजकल पाकिस्तान में संगीत की विभिन्न धाराओं का पर्याप्त विकास हो रहा है और युवा पीढ़ी इससे जुड़ रही है।
   
टीना ने फिल्म संगीत से परहेज किया है क्योकि उनका मानना है कि इससे शास्त्रीय संगीत का मिजाज बदल जाएगा और उसे पर्याप्त महत्व नहीं मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रहमान के साथ काम करना चाहती हैं टीना सानी