DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्थायी समिति ने देश के साथ धोखा किया: अन्ना

वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने शनिवार को लोकपाल विधेयक का परीक्षण करने वाली संसद की स्थायी समिति पर देश के साथ धोखा करने का आरोप लगाते हुए भ्रष्टाचार से निपटने में समिति की रिपोर्ट को ‘कमजोर’ और ‘प्रभावहीन’ बताया। उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ वह रविवार को अनशन करेंगे।

अन्ना हजारे ने पत्रकारों से कहा कि सरकार भ्रष्टाचार मिटाने के प्रति गम्भीर नहीं है। सरकार में स्थायी समिति की रिपोर्ट खारिज करने की इच्छाशक्ति नहीं है। हम रविवार को जंतर-मंतर पर अनशन करेंगे।

उन्होंने कहा कि स्थायी समिति ने पूरे देश को धोखा दिया है। भ्रष्टाचार से गरीब लोगों को कष्ट हो रहा है और हमें तबतक न्याय नहीं मिलेगा जबतक कि निचले स्तर के अधिकारी लोकपाल के दायरे में नहीं आ जाते।

ज्ञात हो कि स्थायी समिति की रिपोर्ट में समूह-सी और डी के कर्मचारियों को लोकपाल के दायर से बाहर रखने की अनुशंसा की गई है। रिपोर्ट में सुझाव दिया गया है कि इन दोनों श्रेणियों के कर्मचारियों के खिलाफ शिकायतों को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त और राज्यों के लोकायुक्त देखेंगे।

उल्लेखनीय है कि अन्ना हजारे सरकारी लोकपाल विधेयक के मसौदे के खिलाफ जंतर-मंतर पर एक दिन का सांकेतिक अनशन करने के लिए शनिवार को नई दिल्ली पहुंचे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्थायी समिति ने देश के साथ धोखा किया: अन्ना