DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ललन सिंह

कांग्रेस के बयान पर भड़का जदयूमुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रही कांग्रेस: ललनएनडीए में हैं, मजबूती से रहेंगेजब लालू की सेवा में थी कांग्रेस तो संघर्ष कर रहा था जदयूकुशासन के खिलाफ लंबे संघर्ष से मिली है सत्ताजनता जान चुकी है, कांग्रेस को समर्थन का मतलब लालू की वापसीपटना (हि.ब्यू.)। जदयू ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की ‘जदयू के साथ की संभावना कोरी बकवास’ टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और कहा है कि वे मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रहे हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के वक्तव्य से ऐसा लगता है कि जैसे जदयू कांग्रेस के दरवाजे पर आवेदन लेकर खड़ी है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को दूसरे पर टिप्पणी करने की बजाए अपने संगठन पर काम करने और उसे मजबूत बनाने की नसीहत दी। श्री सिंह ने कहा जदयू का वजूद किसी की कृपा से नहीं है और कांग्रेस का वजूद पिछले 15 वर्षो से लालू प्रसाद की कृपा से रहा है। उन्हें शायद पता नहीं कि जब कांग्रेस पार्टी लालू प्रसाद की सेवा में जुटी थी, जदयू उस समय कुशासन के खिलाफ संघर्ष कर रहा था। जदयू उसी कुशासन के विरुद्ध लंबे संघर्ष और नया बिहार बनाने के संकल्प के साथ सत्ता में आया और प्रदेश की जनता ने नीतीश कुमार को घोषित मुख्यमंत्री के रूप में वोट दिया। सूबे के सभी सम्प्रदाय, जाति और समूह के लोगों का विश्वास नीतीश सरकार को प्राप्त है। जदयू एनडीए का घटक है और आगे भी मजबूती के साथ इसका घटक बना रहेगा। कांग्रेस के नेतृत्व में केन्द्र सरकार महंगाई पर नियंत्रण पाने में विफल रही है और गरीबों के साथ न्याय करने में असफल रही है। बिहार की जनता यह सब देख रही है और कांग्रेस को अगले विधानसभा में हकीकत का पता चल जाएगा। बिहार की जनता अच्छी तरह समझती है कि कांग्रेस को समर्थन देने का मतलब ही है लालू प्रसाद को वापस लाना। इसे राज्य की जनता किसी सूरत में स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। जदयू का कांग्रेस के साथ की चर्चा तो छोड़ दें दूर-दूर तक किसी रिश्ते का भी सवाल नहीं उठता। उधर पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. भीम सिंह ने कहा कि चोरों को सारे नजर आते हैं चोर। यह वही कांग्रेस का जिसकें प्रधानमंत्री भी ब्रीफकेस लेते पकड़े गए हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता विजय कुमार चौधरी व प्रवक्ता अनिल पाठक ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राजनीतिक दिवालियापन के शिकार हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ललन सिंह