DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘जागर्स’ पर करता था जानलेवा हमला

सुबह के समय जागिंग पर जाने वालों को शिकार बनाने वाला खतरनाक स्नैचर पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। यह शातिर स्नैचर मुख्यत: बूढ़ी औरतों को ही शिकार बनाता था। आश्चर्य की बात यह है कि आरोपी सेक्टर-35 में रह रहा था और इससे पहले भी कई अपराधों में पकड़ा जा चुका है। सोने के लालच में यह आरोपी महिलाओं पर लोहे की राड से हमला करता था। पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी के बाद आधा दर्जन मामलों से पर्दा उठाने का दावा किया है।जानलेवा था यह स्नैचर :आरोपी का नाम इंद्रजीत सिंह है। यह सेक्टर-35 में रहता था। छीनने से पहले यह शिकार को राड से मार कर घायल कर देता था। इसके बाद बेहोशी का लाभ उठाकर वह अपने काम को अंजाम देता था। चोरी की गाड़ी का उपयोग :इंद्रजीत चोरी की गाड़ी का प्रयोग करता था। आसानी से चोरी होने वाली पुरानी मॉडल की मारुति यह चुराता था और स्नैचिंग की घटना को अंजाम देने के बाद वह गाड़ी छोड़ देता था। इसके पास से तीन मारुति और एक स्टीम कार बरामद हुई है।वृद्ध महिलाओं का भी है फैक्टर :वृद्ध महिलाओं को शिकार बनाने का, आरोपी का अपना ही तर्क है।उसके अनुसार नई पीढ़ी के लोग चंडीगढ़ में सोना कम पहनते हैं। जबकि बूढ़े लोगों के गले, कान और हाथ में भारी आभूषण होते हैं। उनसे छीनना भी आसान होता है।पहले भी मामले हैं दर्ज :सन 2002 में इंद्रजीत को आठ चोरी की कारों के साथ गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा सन 2005 में चोरी और छिनताई के आरोप में भी यह पकड़ा जा चुका है। पिछले दो माह से यह फिर सक्रिय था।इस बार कोई गैंग नहीं :इंद्रजीत ने पिछली गलतियों से सीखते हुए इस बार कोई साथी नहीं रखा था। वह अकेले ही वारदातों को अंजाम देता था।उसकी पत्नी को भी इस बारे में कुछ पता नहीं। वह मार्निग वॉक के नाम पर घर से निकलता था। सट्टे की लत ने बनाया अपराधी :11वीं तक पढ़ा इंद्रजीत एक अच्छे खानदान से ताल्लुक रखता है। लेकिन, काफी पहले उसे सट्टे की लत लग गई थी। जिससे उसने अपराध की दुनिया की ओर कदम बढ़ाया।यह हैं ताजा मामले :पहले सेक्टर-33 में 71 वर्षिया वृद्धा के कान से टॉप्स खींचने और उसके बाद सेक्टर-35 में 78 वर्षिया वयोवृद्धा का कंगन छीनने का आरोप इस पर है। दोनों ही वारदातों में महिलाएं गंभीर रूप से घायल हैं। कई चोरी के मामले भी हैं।‘यूटी पुलिस के लिए यह एक उपलब्धि है। लेकिन, लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है। इस तरह के अपराधी सिर्फ लापरवाही का ही लाभ उठाते हैं। पुलिस आपके साथ है पर सावधानी आप ही को बरतनी है।’एसएस श्रीवास्तव, एसएसपीं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘जागर्स’ पर करता था जानलेवा हमला