DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिल्प सबसे ज्यादा उपेक्षित

विधान सभा चुनाव को लेकर विचार-विमर्श करने के लिए शिल्पी विकास संगठन की चिंतन बैठक काशीडीह स्थित प्रधान कार्यालय में हुई। वक्ताओं ने अपने-अपने उदगार व्यक्त करते हुए कहा कि झारखंड गठन हुए नौ वर्ष हो चुके हैं और इस दौरान शिल्पकारों की हालत जस की तस है।वैश्वीकरण के कारण परम्परागत रोजगार समाप्ति की ओर है। ग्रामीण क्षेत्रों में हालत और खराब है। हमारी परंपरागत रोजगार का अस्तित्व ही खत्म होने के कगार पर है। ऐसी स्थिति में विधान सभा चुनाव में किस पार्टी के प्रत्याशी को शिल्पी अपना वोट दे निश्चित नहीं कर पाएं हैं।जो उम्मीदवार कर्मठ और ईमानदार होने के साथ-साथ सिल्पकारों के हित की बात करेगा, उसी को वोट दिया जाएगा। इसका निर्णय संबंधित विधानसभा क्षेत्र की जिला कार्यकारणी समिति की बैठक के बाद लिया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता सच्चिदानंद ने की।इस अवसर पर मैनेजर प्रसाद, जवाहरलाल शर्मा, विनय कुमार, ओमप्रकाश शर्मा, पप्पू कर्मकार, भरत शर्मा, रमेश शर्मा, डा. योगेन्द्र ठाकुर, विद्या शर्मा, लखींदर कर्मकार, धर्मनाथ शर्मा, जयदेव विश्वकर्मा एवं भरत शर्मा सहित अन्य उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिल्प सबसे ज्यादा उपेक्षित