DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मारपीट मामले में 4 छात्र सस्पेंड

यूनिवर्सिटी के मैथ्स डिपार्टमेंट के बाहर खून-खराबे के मामले में पीयू प्रशासन ने चार छात्रों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। चार छात्रों को सस्पेंड करने की जानकारी देते हुए कुलपति प्रो. आरसी सोबती ने कहा कि कैंपस में किसी तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने इस मामले में पीयू के सुरक्षा अधिकारी से भी रिपोर्ट तलब की है।जिन चार छात्रों को सस्पेंड किया गया है उनमें हमलावर के तौर पर पहचाने गए गुरेंद्र सिंह और सुखदेव सिंह शामिल हैं। इनके अलावा प्रभजोत और रजत कुमार भी शामिल है। इन चारों ही छात्रों ने घटना से ठीक पहले लिखित तौर पर मामला सुलझने की बात कही थी और भरोसा दिलाया था कि पुराने जो भी विवाद हैं, वे अब खत्म हो चुके हैं। घटना के बाद से फरार गुरेंद्र और सुखदेव का कमरा पहले ही सील कर दिया गया था।उल्लेखनीय है कि गुरेंद्र और सुखदेव पर आरोप है कि उसने घास काटने वाले धारदार हथियार से जसदीप पर वार कर दिया जिससे जसदीप के सिर पर मल्टीपल फै्रक्चर हो गया था।दोनों पक्षों के बीच मामला एक फ्रेशर पार्टी को लेकर था। घटना का सूत्रपात शुक्रवार को हुआ था।विभाग के ऑडिटोरियम में एक फ्रेशर्स पार्टी थी। पार्टी के दौरान दो गुटों के बीच कहासुनी हो गई थी। इसके बाद विभागाध्यक्ष प्रो. एके भंडारी ने सुलह कराने की कोशिश की थी, बावजूद इसके जसदीप पर जानलेवा हमला हो गया।इस घटना को लेकर पीयू की सुरक्षा व्यवस्था की भी खूब किरकिरी हुई। एक छात्र को धारदार हथियार से पीट-पीटकर लहुलूहान कर छात्र फरा हो गए और पीयू की सिक्योरिटी उन्हें रोक तक नहीं सकी।इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सुरक्षा अधिकारी को रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है। पीयू कैंपस में बड़े स्तर की यह तीसरी घटना है। इससे पहले फरवरी और अगस्त में गोली चलने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मारपीट मामले में 4 छात्र सस्पेंड