DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंदे पेयजल की आपूर्ति से छात्र आक्रोशित

गंदे पेयजल की आपूर्ति के खिलाफ छात्रों का आक्रोश बढ़ने लगा है। पटना विश्वविद्यालय के कॉलेज व विभागों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए सोमवार को विवि मुख्यालय पर छात्र एक दिवसीय अनशन पर बैठे। छात्रों की भूख हड़ताल को विश्वविद्यालय प्रशासन ने गंभीरता से लिया है और कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।कुलपति प्रो. श्याम लाल ने छात्रों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। पिछले दिनों छात्रों ने तीन संस्थानों से पानी के सैंपल लिए गए थे और उसमें बैक्टीरिया पायी गयी थी। इसको छात्र नेताओं ने गंभीरता से लिया है। सोमवार को छात्र एकता मंच के बैनर तले विभिन्न छात्र संगठन के नेताओं ने विवि मुख्यालय पर एक दिवसीय भूख हड़ताल की।छात्रों का कहना था कि विश्वविद्यालय में योजनाओं को पूरा करने के लिए यूजीसी द्वारा राशि देने के बावजूद छात्रों को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पाती है। छात्रों को पीने का जो पानी उपलब्ध कराया जा रहा है वह बैक्टीरिया युक्त है। इसे वे बीमारी की चपेट में फंस सकते हैं।हीं पदाधिकारी छात्रों के पैसे से मिनरल वाटर पी रहे हैं। एडमिशन के समय प्रत्येक छात्र से पेयजल सुविधा देने के लिए 100 रुपये लिया जाता है। कॉलेजों में उपलब्ध कराए जा रहे पानी की जांच पब्लिक हेल्थ इंस्टीटय़ूट में करायी गयी तो बैक्टीरियोलॉजिस्ट ने उसे गंदा करार दिया।इसे विरोध में छात्रों ने आंदोलनात्मक नीति अपनाई। सुबह 10 बजे से छात्र भूख हड़ताल पर बैठे। लगभग दो बजे कुलपति छात्रों से मिलने आए और उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि मंगलवार को पेयजल के मुद्दे पर सभी विभागाध्यक्ष व वार्डन की बैठक बुलाई गई है। इसमें पेयजल की समस्या के समाधान पर विचार किया जाएगा। छात्रों ने अपनी तीन सूत्री मांग विवि प्रशासन के समक्ष रखी है।प्रति कुलपति प्रो. एसआई अहसन की अध्यक्षता में छात्रों की हुई बैठक में सभी कॉलेज व विभागों में वाटर कूलर एक्वागार्ड के साथ लगाने, विश्वविद्यालय व कॉलेजों में पानी की टंकी की सात दिन पर सफाई और बाथरूम की नियमित सफाई व लाइटिंग की मांग की।भूख हड़ताल पर एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव दीपक प्रकाश सिंह, छात्र राकांपा के प्रदेश महासचिव मो. तनवीर अहमद, छात्र एकता मंच के अध्यक्ष संजीव कुमार गुप्ता, छात्र नेता मुकेश कुमार सिंह व तहसीन रजा मुख्य रूप से बैठे। कार्यक्रम में डा. मो. तमन्ना, डा. अमरेश कुमार सिंह, राजेश, प्रिया, जितेंद्र, गुंजन, धर्मेद्र, विजय, आलोक, नीरज, प्रियंका आदि ने भाग लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंदे पेयजल की आपूर्ति से छात्र आक्रोशित