DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी कानपुर व मलेशिया के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर

कानपुर। मलेशिया के पेनांग में स्थापित होने वाले सेन्टर ऑफ इंजीनियरिंग एक्सेलेंस के लिए शनिवार को आईआईटी कानपुर और मलेशिया की यूनिवर्सिटी सेन्स मलेशिया के बीच एक सहमति पत्र (एमआेयूू) पर हस्ताक्षर किए गए।आईआईटी कानपुर की आेर से इस एमआेयू पर निदेशक प्रो.संजय गोविंद धांडे ने तथा यूूनिवर्सिटी सेन्स मलेशिया की आेर से कुलपति प्रो. टैन सिरी डिजुलकिफली अब्दुल रज्जाक ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर मलेशिया सरकार के खजाना मलेशिया वरिष्ठ उपाध्यक्ष हमादान अब्दुल मजीद , खजाना मलेशिया के उपाध्यक्ष एस. गोपालन तथा आईआईटी कानपुर के बोर्ड ऑफ गर्वनर के चेयरमैन प्रो.एम. आनंद कृष्णन भी मौजूूद थे। आईआईटी के निदेशक प्रो.धांडे ने बताया कि मलेशिया के पेनांग में स्थापित होने वाले इस सेन्टर ऑफ इंजीनियरिंग एक्सेलेंस के लिए आईआई टी कानपुर शोध, परामर्श, प्रशिक्षण, कन्सलटेंसी और ट्रेनिंग के रूप में सहायता देगा। इस सेन्टर के लिए धन मलेशिया सरकार उपलब्ध कराएगी । धांडे ने बताया कि खजाना मलेशिया, मलेशिया सरकार का वित्तीय सहयोगी है और यही पेनांग में स्थापित होने वाले सेन्टर ऑफ इंजीनियरिंग के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराएगा। आईआईटी के रजिस्ट्रार संजीव कशालकर ने बताया कि मलेशिया के पेनांग क्षेत्र में इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण बनाने वाली करीब 200 मल्टीनेशनल कंपनिया है। यह कंपनिया वहां आधुनिक उपकरण तैयार करना चाहती है। उससे पहले मलेशिया का एक प्रतिनिधि मंडल शनिवार की सुबह आई आईटी पहुंचा और एमआेयूू साइन करने से पहले उसने आईआईटी के वरिष्ठ प्रोफेसरांे से मुलाकात की और परिसर का भ्रमण भी किया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईआईटी कानपुर व मलेशिया के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर