DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टास्क फोर्स ने हरिहरगंज में 11 क्रसरमशीनों को सील किया

छतरपुर। प्रतिनिधि। अवैध क्रसर मशीनों पर लगाम लगाने के लिएबनायी गयी टास्क फोर्स ने हरहिरगंज प्रखंड क्षेत्र में गुरूवारको 11 क्रसर मशीनों को सील किया। बुधवार को छतरपुर केसरईडीह रोड में 23 क्रसर सील किये गये थे। इस कार्रवाई सेक्रसर व्यवसायियों में हड़कंप है। सील किये क्रसर मशीनोंमें जेवीएम प्रखंडाध्यक्ष राबर्ट गुप्ता और विजय यादव तथा राजदके योगेश यादव का क्रसर मशीन भी शामिल है। कार्रवाई के भयसे उक्त क्रसर मशीनों पर सन्नाटा पसरा था।

सुल्तानी के पाससरसोत मोड़ के किनारे पांच ऐसे क्रसर मशीन भी मिले जिसकामुख्य मशीन मालिकों ने कार्रवाई के भय से हटा दिया था। पहली बार यह बात खुलकर सामने आयी कबिहिार के करबंदिया समेत अन्य जगहों से भागकर अवैध पत्थरमाफियाओं ने छतरपुर और हरहिरगंज को अपना ठिकाना बनायाहै जहां प्रत्येक सप्ताह कम से कम तीन नये क्रसर मशीन खुलरहे हैं। वन अधिकारियों ने कार्रवाई के दौरान यह भी मानाकि माफियाओं की करतूत के कारण क्षेत्र में दर्जनों नामचीनपहाडिम्यों का अस्तित्व संकट में है।

यह बात भी सामने आयी किक्रसर मशीनों और उसके इर्द-गिर्द किशोरियों और महिलाओं काशोषण आम बात है तथा दर्जनों बाल-मजदूरों को भी इस कार्य मेंलगाया जाता है। हंलाकि अधिकारियों का कहना था कि उक्तमुद्दों पर विस्तार से फिर कभी देखा जायेगा। इधरक्रसर मालिकों द्वारा लगातार बैठक और मामले को रफा-दफाकरने के लिए प्रशासन पर दबाव बनाने का प्रयास जारी है। अधिकारियों ने इस बात को भी बिना नाम लिये बताया किपॉलिटिकल प्रेशर भी बहुत है। हंलाकि एसडीओ का कहना था किकार्रवाई जारी रहेगी।

इधर क्रसर व्यवसायियों का कहना है किक्रसर मशीन ही इस इलाके में रोजगार के प्रमुख साधन हैंजिनके बंद हो जाने के बादबेरोजगारी और अपराध बढ़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टास्क फोर्स ने हरिहरगंज में 11 क्रसरमशीनों को सील किया