DA Image
1 जून, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

श्रीनगर में अलगाववादी नेता नजरबंद

जम्मू एवं कश्मीर में कई अलगाववादी नेताओं को उनके घरों में नजरबंद कर दिया गया है। ऐसा विवादित फिल्म 'इनोसेंस ऑफ मुस्लिम' के खिलाफ शुक्रवार के प्रदर्शन को देखते हुए किया गया है।

फिल्म की झलकियां 'यूट्य़ूब' पर डाली गई हैं। आरोप है कि इसमें पैगम्बर मुहम्मद का मजाक उड़ाया गया है।

सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक, मुहम्मद यासीन मलिक, शब्बीर अहमद शाह तथा मुहम्मद नईम खान को श्रीनगर स्थित उनके घरों में नजरबंद किया गया है। फिल्म के विरोध में शुक्रवार को नमाज के बाद प्रदर्शन का आह्वान किया गया था।

पुलिस ने हालांकि अलगाववादी नेताओं को नजरबंद किए जाने को न तो स्वीकार किया है और न ही इससे इंकार किया है। पुलिस ने केवल इतना कहा है कि एहतियाती कदम उठाए गए हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्र में अपराध प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। इस आदेश के तहत चार या इससे अधिक लोगों के एक स्थान पर एकत्र नहीं हो सकते।

कानून एवं व्यवस्था बहाल रखने के लिए संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस तथा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को तैनात किया गया है। इस बीच, राज्य सरकार ने केंद्रीय दूर संचार मंत्रालय से ईशनिंदा वाले इस वीडियो को प्रतिबंधित करने के लिए कहा है।

राज्य के गृह सचिव बी. आर. शर्मा ने कहा कि हां, हमने केंद्रीय दूरसंचार मंत्रालय से यूट्य़ूब पर इस वीडियो को प्रतिबंधित करने के लिए सम्पर्क किया है, क्योंकि इससे राज्य में कानून एवं व्यवस्था की समस्या पैदा हो सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:श्रीनगर में अलगाववादी नेता नजरबंद