अश्विन ने दूसरे छोर से ओझा के सहयोग को सराहा - अश्विन ने दूसरे छोर से ओझा के सहयोग को सराहा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अश्विन ने दूसरे छोर से ओझा के सहयोग को सराहा

भारत की पहले टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड पर पारी से जीत में 12 विकेट लेने वाले स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने रविवार को कहा कि दूसरे छोर से साथी स्पिनर प्रज्ञान ओझा का सहयोग नहीं मिलने पर उन्हें यह सफलता नहीं मिल पाती।

अश्विन ने मैच में 85 रन देकर 12 विकेट लिए जो किसी भी भारतीय का न्यूजीलैंड के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इस ऑफ स्पिनर ने एस वेंकटराघवन का 47 साल पुराना रिकार्ड तोड़ा जिन्होंने दिल्ली में 152 रन देकर 12 विकेट लिए थे। उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उसे (ओझा) भी पूरा श्रेय दिए जाने की जरूरत है। यदि एक स्पिनर विकेट लेता है और दूसरा दबाव बनाता है तो बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें बढ़ जाती हैं।

अश्विन ने कहा कि ओझा के साथ मैं 16 साल की उम्र से खेल रहा हूं और हमने हमेशा एक दूसरे के साथ का लुत्फ उठाया। असल में तब ओझा मुख्य गेंदबाज हुआ करता था और मैं मुख्य रूप से बल्लेबाज। लेकिन फिर भी हम सीमित ओवरों के मैच में साथ में गेंदबाजी किया करते थे। हमने हमेशा एक दूसरे का साथ मिलने पर अच्छी गेंदबाजी की। हम हमेशा अच्छी तरह से दबाव बनाने में सफल रहे हैं।

अश्विन ने उम्मीद जताई कि न्यूजीलैंड पर आसान जीत से टीम का सत्र के आगामी मैचों के लिए मनोबल बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि पूरी टीम के लिए यह साल काफी मुश्किल रहा। ऐसा प्रत्येक टीम के साथ होता है। हमने इसे पीछे छोड़कर अच्छी शुरुआत की है। उम्मीद है कि हम इसे बरकरार रखेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अश्विन ने दूसरे छोर से ओझा के सहयोग को सराहा