DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

320 रुपये देकर 2 घंटे में जाइये दिल्ली से आगरा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को ग्रेटर नोएडा को आगरा से जोड़ने वाले यमुना एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया। गुरुवार शाम से लोग करीब 12 हजार करोड़ रुपये की लागत से बने इस एक्सप्रेस-वे पर वाहन दौड़ा सकेंगे। एक्सप्रेस वे पर 15 अगस्त तक टोल नहीं लगेगा।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बटन दबाकर यमुना एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने के बाद अपने सम्बोधन में कहा कि किसी भी राज्य में जब तक सड़कें अच्छी नहीं रहेंगी वहां विकास अधूरा रहेगा। अगर सड़कें अच्छी होंगी तो विकास बड़े पैमाने पर होगा।

यमुना एक्सप्रेस-वे की तारीफ करते हुए अखिलेश ने कहा कि विकास के लिए इस तरह की सड़कें केवल ग्रेटर नोएडा से आगरा तक ही नहीं, बल्कि बुंदेलखण्ड जैसे इलाकों में भी बननी चाहिए, ताकि विकास की गति वहां भी पहुंच सके।

उन्होंने कहा कि किसानों के सहयोग के बिना इस तरह की परियोजना पूरी नहीं हो सकती। समाजवादी पार्टी (सपा) की सरकार में किसानों की मर्जी से और उन्हें उनका वाजिब हक देने के बाद ही कोई परियोजना शुरू की जाएगी।

अखिलेश ने यमुना एक्सप्रेस का निर्माण करने वाली कम्पनी जे. पी. इंफ्राटेक के शीर्ष अधिकारियों से कहा कि एक्सप्रेस वे पर सर्विस लेन सहित अन्य कार्य अधूरे हैं, जिन्हें आपको जल्द पूरे करने हैं।

इसके अलावा आपने एक्सप्रेस वे के किनारे अस्पताल और स्कूल बनाने की बात कही है उसे भी पूरा करना है। एक्सप्रेस वे के आसपास के गावों का भी विकास होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा इस एक्सप्रेस वे के निर्माण के समय किसानों पर आंदोलन के जो मुकदमे लगाए गए हैं, सरकार उन्हें वापस ले रही हैं। अलीगढ़ में टप्पल के किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लिए जा चुके हैं।

अखिलेश ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले मैंने नौजवानों के साथ इसी एक्सप्रेस वे पर कई किलोमीटर तक साइकिल चलाई थी। हमें तत्कालीन सरकार द्वारा रोका भी गया था। उस समय मेरे एक साथी ने कहा था कि एक दिन मुझे ही इसका उद्घाटन न करना पड़े।

मुख्यमंत्री ने हंसते हुए कहा कि वैसे इस एक्सप्रेस वे का असली उद्घाटन तो नौजवानों ने पहले ही साइकिल चलाकर कर दिया था। करीब 165 किलोमीटर लम्बा यमुना एक्सप्रेव वे छह लेन का है और यह ग्रेटर नोएडा से नोएडा, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा होते हुए आगरा गया है।

अंतर्राष्ट्रीय तकनीक से बने इस एक्सप्रेस वे में हल्के वाहनों की अधिकतम गति सीमा 100 और भारी वाहनों की गति सीमा 65 किलोमीटर प्रति घंटे तय की गई है। गुरुवार शाम चार बजे यमुना एक्सप्रेस-वे को जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:320 रुपये देकर 2 घंटे में जाइये दिल्ली से आगरा