DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इमारत हादसा: 21 श्रमिकों के शव निकाले गए

जालंधर में रविवार की देर रात कंबल कारखाने की जमींदोज हुई तीन मंजिली इमारत में मरने वालों की संख्या अब 24 हो चुकी है हालांकि, मलबे से अबतक 21 शव निकाले गए हैं। दूसरी ओर मलबों को हटाने के लिए अब मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

जिलाधिकारी प्रियांक भारती ने शनिवार को बताया कि कारखाने की इमारत के मलबे से अबतक 21 शव निकाले जा चुके हैं। हादसे के बाद 62 लोगों को बचाया जा चुका है। इनमें से कुछ को छुट्टी दे दी गयी है जबकि कुछ सदर अस्पताल और देवी तालाब के ट्रस्ट के अस्पताल में भर्ती हैं।

उन्होंने बताया कि शनिवार को तीन और शव निकाले गए हैं। इसके साथ ही मलबे में से जो शव निकाले गए हैं उनकी संख्या बढ़ कर 21 हो गयी है। जिलाधिकारी ने कहा कि जबतक हम मलबे से आखिरी जीवित या मृत को नहीं निकाल लेते, तबतक राहत और बचाव कार्य चलता रहेगा। हम नहीं चाहते हैं मलबे में फंसे किसी भी जीवित श्रमिक की जिंदगी खतरे में पडे़। हालांकि, मलबे में किसी के जिंदा होने की उम्मीद बहुत कम है।

दूसरी ओर एनडीआरएफ के कमांडेंट आर के वर्मा ने बताया कि एक और व्यक्ति का पता चला है जो मलबे में फंसा हुआ है। लेकिन उसके मृत होने की पुष्टि मैं नहीं कर सकता। मौके पर काम कर रहे राहत और बचाव दल के लोगों के अनुसार वह मर चुका है।

वर्मा के अनुसार पचास फीसदी से अधिक मलबा हटाया जा चुका है। बाकी मलबों को संभवत: रविवार तक हटाया जा सकता है। मौके पर अभी भी चार-पांच श्रमिक अपने परिजनों को ढ़ूंढ रहे हैं जो हादसे के वक्त इमारत में काम कर रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इमारत हादसा: 21 श्रमिकों के शव निकाले गए