DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'सीएम पिछले दरवाजे से निगमों पर कब्जे की फिराक में'

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री शीला दीक्षित पर आरोप लगाया है कि तीनों नगर निगमों में कांग्रेस की पराजय के बाद वह पिछले दरवाजे से अपना कब्जा जमाने का प्रयास कर रही हैं।

गुप्ता ने शनिवार को कहा कि भाजपा से सलाह मशविरा किए बिना तीनों निगमों के लिए निगमायुक्तों का चयन कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा तीनों निगमों में विजई हुई है  किंतु निगमायुक्तों के नाम को अंतिम रूप देने से पहले पार्टी से कोई विचार विमर्श नहीं किया गया।

मुख्यमंत्री के इस रवैये से नाराज गुप्ता ने कहा कि दीक्षित तानाशाह की तरह व्यवहार कर रही हैं और भाजपा इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि तीनों निगमों में भाजपा विजई हुई है और राज्य सरकार यह प्रयास कर रही है कि प्रशासन पर उसका वर्चस्व बना रहे।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के इस रवैए से दिल्ली की जनता जिसने भाजपा को एक बार फिर सेवा करने का मौका दिया है कैसे बिना किसी रुकावट के जनसाधारण के काम कर पाएगी।  प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली और केन्द्र की सरकार ने अभी तक तीनों निगमों की वित्तीय स्थिति, कर्मचारियों और अन्य महत्वपूर्ण मामलों पर कोई जानकारी नहीं दी है।

भाजपा को सूचित किए बिना सभी फैसले मनमाने और गोपनीय ढंग से लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने साजिश कर दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) को तीन भागों में विभाजित किया। विभाजन से पहले एमसीडी में काबिज भाजपा से कोई विचार विमर्श नहीं किया गया।

उन्होंने कहा एमसीडी का विभाजन कांग्रेस ने इस सोच के साथ किया था कि वह कम से कम एक निगम पर काबिज हो जाएगी किंतु कुशासन, भ्रष्टाचार और महंगाई से त्रस्त दिल्ली की जनता ने कांग्रेस को सबक सिखा दिया और कांग्रेस की योजना धरी की धरी रह गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'सीएम पिछले दरवाजे से निगमों पर कब्जे की फिराक में'