DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले पंजीकरण कराने वाले पहले पा सकते हैं बेरोजगारी भत्ता

उत्तर प्रदेश में सभी बेरोजगारों को एक साथ बेरोजगारी भत्ता नहीं मिल सकता है। अधिकारियों की मानें तो बेरोजगारी भत्ते लिए भी अब वरिष्ठता तय की जाएगी। जिन लोगों ने पहले पंजीकरण कराया होगा, उन्हें पहले बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।

समाजवादी पार्टी (सपा) ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में 35 वर्ष से अधिक उम्र वालों को बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की थी। इसके आधार पर ही मंत्रिमंडल की बैठक में भत्ता दिए जाने का निर्णय लिया गया।

रोजगार कार्यालयों में पंजीकरण कराने वालों को ही बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। इसके आधार पर ही प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय ने शासन को एक प्रस्ताव भेजा था, जिसमें 35 से 40 वर्ष के बीच की आयु वालों को बेरोजगारी भत्ता दिए जाने की बात कही गई थी।

बेरोजगारी भत्ते की चाह में पंजीकरण कराने वालों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। उत्तर प्रदेश में 35 से 40 वर्ष की आयु के करीब 19 लाख लोगों ने पंजीकरण कराया है।

प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय के एक अधिकारी ने बताया कि इतनी बड़ी संख्या में पंजीकरण कराने वालों की वजह से सेवायोजन निदेशालय ने एक संशोधित प्रस्ताव शासन को भेजा है। प्रस्ताव में कहा गया है कि सभी बेरोजगारों को एक साथ भत्ता न देकर इस प्रक्रिया को दो चरणों में पूरा किया जाए। इसके लिए पंजीकरण की एक कट-ऑफ डेट तय की जाएगी यानी पहले पंजीकरण कराने वालों को पहले भत्ता दिया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इस बारे में अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को लेना है। उम्मीद है कि मई तक भत्ता देने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहले पंजीकरण कराने वाले पहले पा सकते हैं बेरोजगारी भत्ता