DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माही के आगे 'दीवार' तोड़ने की चुनौती

दादा की दादागिरी खत्म करने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के सामने अपने अगले मुकाबले में आईपीएल पांच में अपने धुआंधार प्रदर्शन से अभी तक सभी को प्रभावित करने वाली लीग की सबसे पहली विजेता टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान राहुल द्रविड की मजबूत 'दीवार' को तोडने की होगी।
 
चेन्नई अपने घरेलू मैदान में गुरूवार को पुणे वॉरियर्स को घूल चटाने के बाद उत्साहित है और अपने पुराने जोश में नजर आ रही है। माही की यह टीम लीग में दो बार लगातार जीत दर्ज करने के बाद अब एक बार फिर से हैट्रिक बनाने का सपना संजोने लगी है तो दूसरी ओर राहुल द्रविड के नेतृत्व में राजस्थान के इरादे भी काफी मजबूत दिख रहे हैं।
 
राजस्थान ने अपना आखिरी मुकाबला डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद से जीता था और चेन्नई ने गुरूवार को पुणे वॉरियर्स के हाथों से 13 रनों से जीत अपने नाम कर ली। ऐसे में फिलहाल दोनों टीमों की स्थिति काफी मजबूत दिखाई दे रही है।

रॉयल्स जहां अपने छह मैचों में से चार में जीत दर्ज करने के साथ ही आठ अंकों के साथ अंकतालिका में दूसरे नंबर है तो वहीं चेन्नई ने अभी तक छह मुकाबलों में से तीन में जीत और तीन में हार का सामना किया है। अंकतालिका में चेन्नई इस वक्त छह अंकों के साथ छठे स्थान पर है।
 
हालांकि अपने घरेलू मैदान पर मजबूत दिखाई दे रही चेन्नई को एक बार फिर अपने घर में राजस्थान का सामना करना है जिससे मनोवैज्ञानिक तौर पर उसे काफी फायदा हो सकता है।

चेन्नई ने पुणे के साथ अपने पिछले मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन किया है। चेन्नई की मजबूती इस वक्त उसके गेंदबाज और बेहतरीन क्षेत्ररक्षण है। खुद कप्तान धौनी ने पुणे के खिलाफ जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को दिया है। इसके साथ ही चेन्नई ने अपने श्रेत्ररक्षण पर काफी ध्यान दिया है और यह उसके आखिरी मुकाबले में बाखूबी दिखाई भी दिया है।
 
डग बोलिंजर, श्रीलंकाई नुवान कुलशेखर, आर.अश्विन, डैरेन ब्रावो और शाहदाब जकाती के रूप में चेन्नई के पास शानदार गेंदबाज है। पिछले मैच में अपनी शानदार गेंदबाजी का परिचय देने वाले यह गेंदबाज इस वक्त फुल फॉर्म में है और उम्मीद है कि राजस्थान के बल्लेबाजों के लिए इनके सामने टिकना काफी मुश्किल होगा।
 
इसके अलावा दो बार की विजेता टीम होने के नाते चेन्नई सुपर किंग्स के पास मौजूद बल्लेबाज भी काफी शानदार हैं जो विपक्षी टीम के सामने रनों का अंबार लगा सकते हैं। चेन्नई में कप्तान धौनी के अलावा मुरली विजय, सुरेश रैना, एल्बी मोर्कल और ड्वेन ब्रावो से अच्छी बल्लेबाजी की उम्मीद की जा सकती है।
 
दूसरी ओर राजस्थान आईपीएल में इस वक्त सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर मजबूत टीमों की श्रेणी में शुमार हो चुकी है। ऐसे में पूरी तरह फार्म में राजस्थान हाल ही में चेन्नई जैसी टीम के खिलाफ जीत दर्ज कर अपने विजई अभियान को आगे बढ़ाने का पूरा प्रयास करेगी।
 
राजस्थान लीग की दूसरे नंबर की मजबूत टीम होने के साथ ही मैदान पर काफी आक्रामक दिखाई देती है। कप्तान की भूमिका निभा रहे शांत स्वभाव के राहुल द्रविड अपने अनुभव से हर रणनीति को बाखूबी लागू कर रहे हैं। टीम के पास अच्छे बल्लेबाजों और गेंदबाजों की कमी नहीं है और इसी के साथ यह काफी संतुलित टीम है।
 
राजस्थान के पास बल्लेबाज के रूप में कप्तान द्रविड जैसी मजबूत दीवार है जिसे तोड़ना किसी के लिए भी मुश्किल है। इसके अलावा युवा और बेहद प्रतिभाशाली अंजिक्या रहाणे ने जिस तरह अपने पिछले मैचों में चौकों और छक्कों की बरसात से शानदार पारियां खेली हैं उससे विपक्षी टीम के गेंदबाजों के लिए पहले ही काफी खौफ पैदा हो जाता है। साथ ही विदेशी खिलाड़ी ब्रैड हॉज, औवेस शाह और अशोक मनेरिया से भी बड़े स्कोर की उम्मीद की जा सकती है।
 
राजस्थान की गेंदबाजी क्रम भी इस वक्त अच्छी स्थिति में है। सिद्धार्थ त्रिवेदी, जबकि अमित सिंह और पंकज सिंह ने अभी तक खेले गए मैचों में टीम कई विकेट अपने नाम किए हैं। ऐसे में आईपीएल की दोनों पूर्व विजेता टीमों के बीच चेन्नई में रोमांचक मुकाबला होने की उम्मीद की जा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माही के आगे 'दीवार' तोड़ने की चुनौती