DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीईएमएल के सीएमडी पर धोखाधड़ी का केस

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने बीईएमएल के सीएमडी तथा कंपनी के निदेशक के खिलाफ मामला दर्ज कर उनके आवास सहित देशभर में चार स्थानों पर छापे मारे। यह मामला एक कंसल्टेंसी कंपनी की सेवा लेने में अनियमितता बरतने और साजिश रचकर धोखाधड़ी करने के कथित आरोपों में दर्ज किया गया है।

बीईएमएल के सीएमडी वीआरएस नटराजन मंगलवार को सीबीआई मुख्यालय में दस्तावेज लेकर उपस्थित हुए थे। सीबीआई ने बुधवार को वेक्ट्रा ग्रुप के प्रमुख रवि ऋषि, सेना के पूर्व ब्रिगेडियर पीसी दास तथा बीईएमएल के प्रमुख नटराजन तथा वी मोहन का आमना-सामना कराया। सूत्रों का कहना है कि पूछताछ में नटराजन ने ठेके लेने में कोयंबटूर की मैसर्स अस्त्रल कंसल्टेंट्स का नाम भी उजागर किया था।

सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार को नटराजन तथा अस्त्रल कंसल्टेंट्स के निदेशक सीएस श्रीवाट्सन के खिलाफ एक नई प्राथमिकी दर्ज कर छह टीमों ने बेंगलुरु तथा कोयंबटूर में छापे मारे। छापे में इनके आवास से आपत्तिजनक दस्तावेज मिले। बताया गया कि यह मामला बीईएमएल द्वारा अस्त्रल को ठेके पर लेने के लिए निविदा प्रकिया में गड़बड़ी से संबंधित है। सीबीआई का कहना है कि यह गड़बड़ी 2004-09 के बीच हुई, जिसमें करीब 40 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। टाट्रा मामले में सीबीआई ने 30 मार्च को पहली एफआईआर में वेक्ट्रा ग्रुप के प्रमुख रवि ऋषि को ही नामजद किया था।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीईएमएल के सीएमडी पर धोखाधड़ी का केस