DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लानत भेजिए!

बेटा हमारा बड़ा नाम करेगा..ऐसी ही किसी धुन को कलेजे से लगाए मां-बाप बच्चों के लिए जिंदगी गला डालते हैं। ऊंचे सपनों को छूती साधनों की सीढ़ी तैयार करने में एड़ियां घिस जाती हैं। मगर किसी दिन भक्क से उम्मीद की वह लौ बुझ जाए तो? कैसा धक्का, कितनी छटपटाहट होगी? एक बाप को कितना दर्द हुआ होगा यह जानकर कि उसका पढ़ाकू दिखने वाला बेटा कई बरस पहले ही किताबों से तौबा कर बैठा और किताबों के नाम पर नोट ऐंठता और ऐश करता रहा। आप मत मनाइए मदर्स और फादर्स डे, मगर इस बेदर्दी से उनके सपने तो मत कुचलिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लानत भेजिए!