DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज से सामाजिक, आर्थिक एवं जाति आधारित जनगणना

बिहार में सामाजिक, आर्थिक और जाति आधारित जनगणना शुक्रवार से शुरू हो जाएगी। केंद्र सरकार के निर्देश पर होने वाली इस जनगणना के लिए राज्य सरकार ने तैयारी पूरी कर ली है। राज्य के मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों को निर्देश भेज दिया है। ग्रामीण एवं नगर विकास विभाग के तत्वावधान में यह कार्य शुरू किया जाएगा और यह अगले छह माह में पूरा कर लेने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए शहरी और ग्रामीण स्तर पर चार्ज सेंटर बनाए गए हैं।

सामाजिक, आर्थिक एवं जाति आधारित जनगणना का कार्य राज्य के 534 ग्रामीण एवं 134 शहरी कुल 668 चार्ज सेंटर अंतर्गत किया जाना है। ग्रामीण चार्ज सेंटर के लिए बीडीओ और शहरी चार्ज सेंटर हेतु डीएम द्वारा नामित चार्ज पदाधिकारी को जिम्मेवारी सौंपी जाएगी। चार्ज सेंटर अत्याधुनिक सुविधाओं और तकनीकी रूप से अप टू डेट होगा। वहां कम्प्यूटर से लेकर अन्य तमाम चीजें मौजूद रहेंगी। इसकी जिम्मेदारी डीएम को सौंपी गई है।

मुख्य सचिव ने इस कार्य के लिए सरकारी कर्मियों और कांट्रैक्ट पर कार्यरत कर्मचारिरयों की सेवा लेने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि जनगणना का कार्य प्रत्येक प्रखंड में कम से कम 45 दिन चलने का अनुमान है। लिहाजा इसके लिए बड़े पैमाने पर कर्मियों की जरूरत होगी। हालांकि इस कार्य से कुछ कर्मियों को मुक्त रखा गया है। इसमें पहली कक्षा से आठवीं तक पढ़ाने वाले शिक्षक, डाक्टर, पशु चिकित्सक, आंगनबाड़ी सेविकाओं को जनगणना कार्य से छूट दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज से सामाजिक, आर्थिक एवं जाति आधारित जनगणना