DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटी की पढ़ाई में कॉलेज नहीं बनेगा बाधक

रांची ’ राजीव। बेटियों को इंटर पास करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए दूसरे शहरों में नहीं जाना पड़ेगा। अब अपने शहर में ही कॉलेज होगा। बिटिया वर्ष में सरकार ने सभी जिलों में एक-एक महिला कॉलेज की सौगात दी है। चालू शैक्षणिक सत्र में चार जिलों में कॉलेज खोलने की योजना है। इसके लिए शुरुआती चरण में चार करोड़ रुपए की राशि भी स्वीकृत की गई है।

कॉलेज खोलने के लिए महिला साक्षरता दर को आधार बनाया जाएगा। सबसे कम महिला साक्षरता दर वाले जिले में पहले कॉलेज खुलेगा। इसी आधार पर चरणबद्ध तरीके से सभी जिलों में एक-एक कॉलेज खोला जाना है।

विज्ञान एवं तकनीकी शोध केंद्र बनेगाः उच्चस्तरीय विज्ञान एवं तकनीकी शोध की स्थापना भी की जाएगी। इसके लिए सरकार ने राशि आवंटित कर दी है। वित्तीय वर्ष 2012-13 में 2.50 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है।

पुस्तकालय और प्रयोगशाला का आधुनिकीकरणसभी विश्वविद्यालय एवं अंगीभूत कॉलेजों में पुस्तकालय और प्रयोगशाला को सुदृढ़ करने की योजना सरकार ने बनाई है। इसी साल सभी कॉलेजों के पुस्तकालय और प्रयोगशाला को बेहतर बनाने का निर्देश दिया है।

अधिकतर कॉलेजों में पुस्तकालय और प्रयोगशाला का हाल खस्ता है। विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में प्रयोगशालाऔर पुस्तकालय दुरुस्त नहीं होने की शिकायत कई बार छात्र और छात्राएं संबंधित विभाग और अधिकारियों से कर चुके हैं।

जिलों में खुलेंगे महिला कॉलेजः महिला साक्षरता के अनुसार प्राथमिकता’ वर्ष 2012-13 में चार जिलों में कॉलेज ’ चार करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत’ चरणबद्ध तरीके से सभी जिलों में कॉलेजमहिला कॉलेज नहीं होने से लड़कियों को परेशानी हो रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए सभी जिलों में कॉलेज खोलने की योजना बनी है।

इस वर्ष चार जिलों में कॉलेज खुलेंगे। इसके लिए राशि का प्रावधान कर दिया गया है।बैद्यनाथ राम शिक्षा मंत्री12 मॉडल कॉलेज खोलने की कवायद तेजराज्य के 12 जिलों में मॉडल कॉलेज खोलने की कवायद तेज हो गई है।

तीन जिलों में मॉडल कॉलेज को लेकर सारी तैयारी पूरी कर ली गई हैं। शेष जिलों में जमीन के लिए डीसी को एचआरडी ने पत्र लिखा है। जमीन मिलने के बाद कॉलेज खोलने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेटी की पढ़ाई में कॉलेज नहीं बनेगा बाधक