DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधिक शिक्षा में सुधार प्राथमिकता: मिश्र

बार काउंसिल ऑफ इंडिया के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मनन कुमार मिश्र ने बुधवार को कहा कि संस्था के प्रमुख के रूप में उनकी पहली प्राथमिकता देश में विधिक शिक्षा के स्तर में सुधार लाना होगा।

मिश्र ने यहां कहा कि अध्यक्ष के रूप में मैं राज्य के बार काउंसिल के साथ मिलकर पूरे देश में विधिक शिक्षा के स्तर में सुधार लाने का प्रयास करूंगा। बीते एक दशक के दौरान कुकुरमुत्तों की तरह खुल आये विधि कालेजों में बुनियादी ढांचे और पठन पाठन के स्तर में काफी गिरावट आयी है।

बीते 15 अप्रैल को मिश्र को सर्वसम्मति से बार काउंसिल ऑफ इंडिया का अध्यक्ष चुना गया था। उन्होंने कहा कि देश भर में ऐसे 600 से अधिक विधि कॉलेज हैं, जिनके पठन पाठन का स्तर बहुत खराब है। अच्छे वकील बनाने के लिए अच्छे संस्थानों की दरकार है।

हर राज्य से मांग की जाएगी कि वे अपने यहां वकीलों की अकादमी का गठन करें। इस दिशा में बिहार सहित कुछ राज्यों से सकारात्मक आश्वासन प्राप्त हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधिक शिक्षा में सुधार प्राथमिकता: मिश्र