DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वापसी करने की कोशिश करेगी सुपरकिंग्स

 गत चैम्पियन चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम बुधवार को आईपीएल के घरेलू मैच में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ अपने पिछले मुकाबले में मिली हार का बदला चुकता करने और तीन शिकस्त की निराशा से बाहर निकलने का प्रयास करेगी।
    
पांच मैचों में उसे तीन में पराजय का मुंह देखना पड़ा था जिसमें पुणे वॉरियर्स के खिलाफ मैच भी शामिल है जिससे सुपरकिंग्स के महज चार अंक हैं। लेकिन वे टूर्नामेंट के पिछले दो चरण जैसे ही हालात में हैं।
    
वर्ष 2010 में, वे वापसी से पहले बाहर होने की कगार पर थे लेकिन बाद में टीम ने खिताब जीता। पिछले सत्र में भी उन्होंने वापसी करते हुए ट्रॉफी हासिल की। पुणे के छह अंक हैं और उसका रन रेट चेन्नई से कहीं बेहतर है जिससे वह कल के मैच में प्रबल दावेदार होगी।
    
आईपीएल के इस सत्र के चलन को देखते हुए ऐसे मैच की भविष्यवाणी करना थोड़ा मुश्किल है लेकिन सुपरकिंग्स पहले भी इस हालत में रह चुका है और उसके अनुभव को देखते हुए उसे वॉरियर्स को शिकस्त देनी चाहिए।
    
सुपरकिंग्स की टीम अपने कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से अच्छे प्रदर्शन की आस लगाए होगी जैसा कि उन्होंने पिछले सत्र में किया था जिससे टीम का भाग्य ही बदल गया था।

चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम अपने घरेलू दर्शकों के सामने खेलते हुए यहां पर पिछले मैच के प्रदर्शन को दोहराना चाहेगी जिसमें उसने रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ अंतिम गेंद पर पांच विकेट की सनसनीखेज जीत दर्ज की थी।
    
चेन्नई की टीम इस बात से भी प्रेरित हो सकती है कि इस सत्र के तीन मैचों में उसे जो हार मिली है, वे काफी करीबी मैच रहे और ऐसा केवल इसलिए हुआ क्योंकि वे बतौर इकाई प्रदर्शन नहीं कर पाये।
    
मुरली विजय अभी तक कुछ बेहतर नहीं कर पाये हैं लेकिन उनके सलामी जोड़ीदार फाफ डु प्लेसिस ने अपनी महत्तसा साबित कर दी है। ऑल राउंडर रविंदर जडेजा ने भी ठीक ठाक प्रदर्शन किया है। वहीं पुणे वॉरियर्स के लिए एकजुट होकर प्रदर्शन करना बहुत जरूरी है क्योंकि उनकी टीम सुपरकिंग्स की तरह संतुलित नहीं है।
    
कप्तान सौरव गांगुली के लिए बुधवार को बेंगलुरु में रोमांचक मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से मिली शिकस्त से जिम्मेदारी और बढ़ गयी है क्योंकि अब उन्हें अपने खिलाड़ियों को एकजुट करके बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा।
    
पुणे की टीम अपने सलामी जोड़ीदार जेसी राइडर और रोबिन उथप्पा पर निर्भर होगी कि वे उन्हें मजबूत शुरूआत कराये। निचले क्रम में टीम की उम्मीदें स्टीवन स्मिथ पर टिकी होंगी। गांगुली भी अपनी क्षमता के मुताबिक नहीं खेल पाये हैं और वॉरियर्स की टीम गत चैम्पियन के खिलाफ आक्रामक प्रदर्शन की उम्मीद लगाए होगी।

टीमें इस प्रकार हैं :
पुणे वॉरियर्स : सौरव गांगुली (कप्तान), अशोक डिंडा, ए त्रिवेदी, राइफी गोमेज, हरप्रीत सिंह, धीरज जाधव, कामरान खान, मुरली कार्तिक, हर्षद खादीवाले, महेश रावत, भुवनेश कुमार, अनुस्तूप मजूमदार, मिथुन मन्हास, राहुल शर्मा, अली मुर्तजा, मोहनिश मिश्रा, आशीष नेहरा, मनीष पांडे, राबिन उथप्पा, वेन परनेल, जेस्सी राइडर, मर्लोन सैमुअल्स, सचिन राणा, अल्फोंसो थॉमस, तामिम इकबाल, श्रीकांत वाघ, ल्यूक राइट, कॉलम फग्युर्सन।

चेन्नई सुपरकिंग्स : महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान और विकेटकीपर), श्रीकांत अनिरूद्ध, आर अश्विन, एस बद्रीनाथ, जॉर्ज बेली, डग बोलिंजर, डवेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस, बेन हिल्फेन्हॉस, माइक हस्सी, रविंदर जडेजा, शदबा जकाती, जोगिंदर शर्मा, सूरज रणदीव, नुआन कुलाशेखरा, यो महेश, एल्बी मोर्कल, सुरेश रैना, रिद्धिमान साहा, स्कॉट स्टायरिस, सुदीप त्यागी, के वासुदेवदास, गणपति विग्नेश, मुरली विजय।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वापसी करने की कोशिश करेगी सुपरकिंग्स