DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली की तर्ज पर निखरेगा यूपी का ट्रैफिक

प्रदेश का ट्रैफिक निदेशालय राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की तर्ज पर न केवल लखनऊ बल्कि सूबे के सभी बड़े शहरों का रंग-रूप बदलने की तैयारी में है। प्रदेश वासियों को यातायात की दिक्कतों से निजात दिलाने के लिए निदेशालय योजना बनाने में जुटा है। यह योजना अगर सिरे चढ़ी तो प्रदेश वासियों को जगह-जगह लगने वाला जाम नहीं ङोलना पड़ेगा। बुजुर्गो के लिए खास सहूलियत वाले फुट ओवरब्रिज बनाएं जाएंगे। उनके लिए सब-वे और फुट ओवरब्रिज में एस्केलेटर भी लगाए जाएंगे, ताकि वे उसका इस्तेमाल कर आसानी से सड़क पार कर सकें और दुर्घटना का शिकार होने से बचें।
यह योजना मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर बन रही है। एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाई गई है जो इस बाबत पीडब्ल्यूडी, परिवहन विभाग और नगर निगम के अधिकारियों के साथ लगातार मंत्रणा कर रही है। बकौल डीजीपी ए.सी. शर्मा यातायात सुधारना हमारी प्राथमिकता है, ताकि कोई दिल्ली से यूपी में प्रवेश करने पर यह न महसूस करे कि जाम में फंस जाएंगे।

उच्चस्तरीय बैठक में तय किया गया है कि प्रदेश के कमोबेश सभी बड़े शहरों मसलन, कानपुर, सहारनपुर, मुरादाबाद, गाजियाबाद, वाराणसी, इलाहाबाद, आगरा, बरेली, गोरखपुर, अलीगढ़, फिरोजाबाद, मेरठ, नोएडा जैसे शहरों में उन स्थानों का चयन होगा जहां अक्सर जाम लगता है। चूंकि सब जगह सड़कें चौड़ी करना मुश्किल है लिहाजा उच्चस्तरीय कमेटी उन स्थानों पर दिल्ली की तर्ज पर सबवे और फुट ओवरब्रिज बनाने की संभावना तय करेगी। कमेटी द्वारा चिन्हित स्थानों पर सबवे और फुट ओवरब्रिज का निर्माण कराया जाएगा। इसके अलावा बड़े शहरों में ट्रैफिक लाइट सिस्टम भी दुरुस्त किए जाएंगे।

खास-खास
- जाम की समस्या खत्म करने पर होगा खास फोकस
- रखा जाएगा बुजुर्गो का ख्याल, एस्केलेटर बनाने पर विचार
- जाम वाले इलाके चिन्हित कर पीडब्ल्यूडी और परिवहन विभाग कराएंगे निर्माण
- मुख्यमंत्री के आदेश पर योजना बनाने में जुटा ट्रैफिक निदेशालय
- ट्रैफिक लाइट सिस्टम दुरुस्त किए जाएंगे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली की तर्ज पर निखरेगा यूपी का ट्रैफिक