DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमसीडी चुनाव में भाजपा की कांग्रेस पर जीत

दिल्ली नगर निगम चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस पर जीत दर्ज की है जहां पार्टी को नवगठित तीन निगमों में से दो पर निर्णायक जीत हासिल हुई है वहीं दक्षिणी निगम में वह सबसे बड़े दल के रूप में उभर कर सामने आई है। राज्य चुनाव आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, एमसीडी चुनाव में भाजपा ने 272 वार्डों में 138 पर जीत दर्ज की। कांग्रेस को 78 वार्ड में जीत हासिल हुई जबकि बसपा को 15 सीट तथा राकांपा को छह वार्ड में जीत मिली। भाजपा ने पूर्वी और उत्तरी निगम में निर्णायक जीत दर्ज की जबकि दक्षिणी निगम सें वह सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी।
   
साल 2007 में हुए एमसीडी चुनाव में भाजपा को 164 वार्ड में जीत हासिल हुई थी, जबकि कांग्रेस को 67 सीट मिली थी। बसपा को 17 वार्ड में तथा लोजपा, झामुमो, इनेलोद, राकांपा को दो-दो तथा 15 सीट निर्दलीय के खाते में गई थी। पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार एमसीडी चुनाव में भाजपा ने हालांकि एक बार फिर कांग्रेस को पराजित किया है लेकिन इस बार पार्टी को 26 सीटें कम मिली हैं। वहीं कांग्रेस को इस बार 11 सीटें अधिक मिली हैं। बसपा को भी इस बार दो सीटें कम मिली जबकि राकांपा की सीटों में वृद्धि हुई है।   
   
उत्तर और पूर्वी नगर निगम में भाजपा ने अपने दम पर जीत हासिल की है वहीं दक्षिणी निगम में उसे निर्दलियों के समर्थन से जरूरी संख्या हासिल करने की उम्मीद है। रविवार को नगर निगम के 272 वार्डों के लिए मतदान हुआ था। प्राप्त परिणामों के मुताबिक, दक्षिण दिल्ली नगर निगम में भाजपा ने 104 वार्ड में से 44 वार्डों में जीत दर्ज की है और उसे बहुमत के जादुई अंक के नौ सीटें कम मिली है। पार्टी को निर्दलीयों के समर्थन की उम्मीद है। इस क्षेत्र में 14 वार्ड में निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। कांग्रेस को 30 सीटें मिली। बसपा को पांच सीट, राकांपा को पांच सीट, इनेलोद को तीन सीट तथा जद यू, रालोद को एक-एक सीट पर जीत मिली। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 104 वार्डों में भाजपा ने 59 वार्डों में जीत दर्ज की, वहीं कांग्रेस 29 सीटें जीती। बसपा को सात सीटें मिली, रालोद को चार, लोजपा को एक तथा चार सीटें निर्दलीयों के खाते में गई। कांग्रेस को सबसे अधिक झटका पूर्वी दिल्ली निगम में लगा जहां 64 वार्डों में से भाजपा ने 35 वार्ड में जीत दर्ज की जबकि कांग्रेस को 19 सीटों पर संतोष करना पड़ा। इस क्षेत्र में इनेलोद को छह सीटें मिली जबकि सपा को एक सीट तथा तीन सीट निर्दलीयों के खाते में गई। गौरतलब है कि पूर्वी, दक्षिणी और उत्तरी क्षेत्र के तीन निगमों के 272 वार्डों में रविवार को हुए मतदान में कुल 15 करोड़ मतदाताओं में से 55 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ये चुनाव स्थानीय मुद्दों के आधार पर लड़े गए और चुनाव में किसी की जीत तो किसी की हार होती है और इसे उसी भावना से स्वीकार किया जाना चाहिए।  दूसरी ओर, भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा कि ये परिणाम कांग्रेस विरोधी जन भावना का पक्का सुबूत हैं और उनका दल आगामी दिल्ली विधानसभा तथा लोकसभा चुनावों में भी विजयी होगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में होने वाले किसी भी चुनाव का राष्ट्रीय महत्व होता है, क्योंकि यह देश की जनता के मूड को दर्शाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमसीडी चुनाव में भाजपा की कांग्रेस पर जीत